कोरोना की वैक्सीन का पहला डोज 30 वर्षीय युवक को दिया गया
कोरोना की वैक्सीन का पहला डोज 30 वर्षीय युवक को दिया गया
देश

कोरोना की वैक्सीन का पहला डोज 30 वर्षीय युवक को दिया गया

news

- एम्स में शुक्रवार से मानव ट्रायल शुरू, 3500 लोगों ने कराया रजिस्ट्रेशन विजयलक्ष्मी नई दिल्ली, 24 जुलाई (हि.स.)। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स ) में आज से स्वदेश में तैयार कोरोना की वैक्सीन- कोवैक्सीन का ट्रायल शुरू हो गया है। शुक्रवार को स्वदेश में तैयार कोवैक्सीन का पहला डोज 30 वर्षीय दिल्ली के निवासी को दिया गया है। इस व्यक्ति को अब दो हफ्ते तक निगरानी में रखा जाएगा। एम्स में वैक्सीन के मानव ट्रायल को लीड कर रहे डॉ. संजय राय ने बताया कि वैक्सीन के ट्रायल से पहले व्यक्ति के स्वास्थ्य पैरामीटर की जांच की गई। स्वास्थ्य के सभी मानकों पर खरा उतरने के बाद आज से वैक्सीन देने का काम शुरू किया गया है। वैक्सीन देने के दो घंटे तक व्यक्ति को कोई साइड इफेक्ट नहीं हुआ है। डॉ. संजय राय ने बताया कि आने वाले दिनों में जांच में फिट पाए अन्य वॉलेंटियर को वैक्सीन का डोज दिया जाएगा। मानव ट्रायल के लिए 3500 लोगों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। उल्लेखनीय है कि कोरोना की वैक्सीन- कोवैक्सीन स्वेदश में हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक ने आईसीएमआर और नेशनल इंस्टीट्यट ऑफ वायरोलॉजी के साथ मिलकर तैयार किया है। इस वैक्सीन का देश में 12 स्थानों पर पहले फेस का मानव ट्रायल शुरू किया गया है। एम्स दिल्ली में 100 लोगों पर इस वैक्सीन के असर का परीक्षण किया जाना है। इसके लिए 375 लोगों को चुना गया है। हिन्दुस्थान समाचार-hindusthansamachar.in