कोरोना काल में घरों में कैद होकर डिप्रेशन के शिकार हो रहे हैं परिवारों के बुजुर्ग

कोरोना काल में घरों में कैद होकर डिप्रेशन के शिकार हो रहे हैं परिवारों के बुजुर्ग
कोरोना-काल-में-घरों-में-कैद-होकर-डिप्रेशन-के-शिकार-हो-रहे-हैं-परिवारों-के-बुजुर्ग

कोरोना के इस दौर में पारिवारिक तानाबाना बिखर गया है। आदमी एकाकी होकर रह गया है। बच्चों की दिनचर्या बिल्कुल बदल गई है। आउट डोर गेम बंद हो गए। इन्डोर गेम भी न के बराबर खेले जा रहे हैं। ऑनलाइन पढ़ाई के लिए बच्चों को मोबाइल मिल गए तो वे क्लिक »-www.prabhasakshi.com