कैबिनेट : एनएमडीसी और नागरनार प्लांट के डीमर्जर और विनिवेश को मंजूरी
कैबिनेट : एनएमडीसी और नागरनार प्लांट के डीमर्जर और विनिवेश को मंजूरी
देश

कैबिनेट : एनएमडीसी और नागरनार प्लांट के डीमर्जर और विनिवेश को मंजूरी

news

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (हि.स.)। केन्द्र सरकार ने बुधवार को राष्ट्रीय खनिज विकास निगम लिमिटेड (एनएमडीसी) और नागरनार स्टील प्लांट के डिमर्जर के साथ डीमर्ज की गई कंपनी के रणनीतिक विनिवेश के तहत एक रणनीतिक खरीदार को भारत सरकार की संपूर्ण हिस्सेदारी बेचने को भी मंजूरी दे दी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केन्द्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में उक्त आशय के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई। मंत्रिमंडल के फैसलों की जानकारी देते हुए केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि सरकार का मानना है कि खनन और इस्पात निर्माण अलग-अलग कार्य है। इसके चलते एनएमडीसी के तहत आने वाले नागरनार प्लांट को अलग करने को मंजूरी दी गई है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में एनएमडीसी छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले में नागरनार इस्पात प्लांट बना रही है। इसका 90 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है और बाकी मार्च तक पूरा हो जाएगा। पूरी क्षमता से काम करने पर इसकी सालाना 30 लाख टन की उत्पादन क्षमता होगी। उन्होंने कहा कि डीमर्जर के साथ नागरनार प्लांट का रणनीतिक विनिवेश भी होगा। मार्च तक नागरनार प्लांट बनकर तैयार होगा और अप्रैल तक इसका डीमर्जर किया जाएगा। सितंबर तक सरकार बिकवाली की प्रक्रिया पूरी करेगी। हिन्दुस्थान समाचार/अनूप-hindusthansamachar.in