काव्य रूप में पढ़ें श्रीरामचरितमानस: भाग-8

काव्य रूप में पढ़ें श्रीरामचरितमानस: भाग-8
काव्य-रूप-में-पढ़ें-श्रीरामचरितमानस-भाग-8

बोले विश्वामित्र यों, मांगन आया आज राम-लखन दीजे मुझे, हे दशरथ महाराज। हे दशरथ महाराज, यज्ञ तब पूरे होंगे पहरे पर जब दोनों भाई खड़े रहेंगे। कह ‘प्रशांत’ राजा बोले ये दोनों बाला हैं अति छोटे और राक्षस क्रूर कराला।।81।। - मुनि ने समझाया बहुत, राजा माने बात दोनों भैया क्लिक »-www.prabhasakshi.com