एमयू गेस्ट हाउस कांड: सीबीआई ने केइराव के विधायक रमेशवोर व 3 अन्य के खिलाफ पेश की चार्जशीट
एमयू गेस्ट हाउस कांड: सीबीआई ने केइराव के विधायक रमेशवोर व 3 अन्य के खिलाफ पेश की चार्जशीट
देश

एमयू गेस्ट हाउस कांड: सीबीआई ने केइराव के विधायक रमेशवोर व 3 अन्य के खिलाफ पेश की चार्जशीट

news

नई दिल्ली, 22 सितम्बर (हि.स.)। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने इंफाल (पश्चिम) जिले के विशेष न्यायाधीश की अदालत में केइराव के विधायक रमेशवोर के अलावा मणिपुर विश्वविद्यालय (एमयू) के तीन कर्मचारियों के खिलाफ चार्जशीट पेश की है। यह मामला भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम से जुड़ा है और एसीबी इम्फाल शाखा इस मामले की जांच कर रही है। सीबीआई प्रवक्ता आरके गौड़ के अनुसार आरोपितों में केइराव के विधायक रमेशवोर (लुआरेबम एंटरप्राइज के प्रोपराइटर के तत्कालीन ठेकेदार), एमयू के तत्कालीन वित्त अधिकारी जोय कुमार सिंह, सहायक वित्त अधिकारी क्षत्रियम बसंत सिंह और स्टोर इंचार्ज एन. तेजेन्द्रो सिंह शामिल हैं। आरोप पत्र में सीबीआई ने कहा है कि आरोपीगण एक-दूसरे के साथ आपराधिक साजिश में शामिल रहे। खासकर आरोपित ठेकेदार रमेशवोर जो एमयू का प्रबंधक भी था, ने 2012-2016 की अवधि के दौरान मणिपुर विश्वविद्यालय को लगातार धोखा दिया। सरकारी शक्तियों और पदों का दुरुपयोग किया और अधिकारी व कर्मचारी के माध्यम से गेस्ट हाउस व विश्वविद्यालय के लिए की गई खरीदारी में अनियमितताएं बरतीं। सीबीआई ने चार्जशीट में बताया है कि करीब 74,01,978 रुपये का घोटाला किया गया है। एसीबी ने अपनी जांच में पाया कि एमयू के अधिकारियों ने 7 अक्टूबर, 2014 को स्टॉक रजिस्टर में पूरी मात्रा में फर्निचर की रसीदें फर्जी तरीके से दिखाई थीं। यह राशि मेसर्स लुआरेबम एंटरप्राइज ने गलत तरीके से हासिल की है। इसके अलावा 3 अक्टूबर 2016 को मणिपुर विश्वविद्यालय के मनोरंजन हॉल में जो अग्निकांड होना बताया गया, वह भी एक साजिश के तहत था। इसमें सभी आरोपी मिले हुए थे। सीबीआई के इस आरोपपत्र पर विशेष न्यायाधीश ने संज्ञान लेते हुए सभी आरोपियों को नोटिस जारी किए हैं। हिन्दुस्थान समाचार/जितेन्द्र बच्चन/मुकुंद-hindusthansamachar.in