उप सभापति हरिवंश नारायण ने प्रेम और आदर का उदाहरण किया पेश:  सीएम योगी
उप सभापति हरिवंश नारायण ने प्रेम और आदर का उदाहरण किया पेश: सीएम योगी
देश

उप सभापति हरिवंश नारायण ने प्रेम और आदर का उदाहरण किया पेश: सीएम योगी

news

-विस अध्यक्ष हृदय नारायण बोले राजनीति में मतभेद हो सकते हैं मनभेद नहीं संजय सिंह लखनऊ, 22 सितम्बर (हि.स.)। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्यसभा से निलंबित सांसदों के संसद परिसर में धरना-प्रदर्शन के बीच मंगलवार को उपसभापति हरिवंश नारायण के स्वयं उनके बीच पहुंचने की सराहना की है। मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया कि भगवान बुद्ध का संदेश है...'अपमान पर उत्तेजित होने के स्थान पर स्वयं को संतुलित रखना ही श्रेयस्कर है। यही धर्म है।' उन्होंने कहा कि राज्यसभा के उप सभापति हरिवंश जी ने अपमान के प्रति उत्तर में प्रेम और आदर का जो उदाहरण प्रस्तुत किया है, वह अनुपम है, प्रेरणास्पद है। सबको सन्मति दे भगवान! उत्तर प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने कहा कि धरने पर बैठे राज्यसभा सदस्यों के लिए सुबह राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह जी स्वयं चाय लेकर पहुंचे। उन्होंने अपने इस आचरण से विपक्षी सदस्यों को सीख दी कि राजनीति में "मत भेद" हो सकते हैं लेकिन कभी "मन भेद "नहीं होना चाहिए। उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि भारतीय लोकतंत्र का सबसे खूबसूरत दिन है। जिन लोगों ने हरवंश जी का अपमान किया, हरवंश जी ने उनकी गलती भुलाकर अपने संस्कारों का परिचय दिया। उपसभापति हरिवंश नारायण विपक्षी सांसदों के लिए चाय लेकर पहुंचे, लेकिन सदस्यों ने इसे स्वीकार करने से इनकार कर दिया। उपसभापति के इस नम्र आचरण की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सहित अन्य नेताओं ने बेहद सराहना की है। वहीं, हरिवंश नारायण कृषि विधेयकों के पारित होने के दौरान विपक्षी सांसदों द्वारा सदन में उनके साथ किए गए दुर्व्यवहार के खिलाफ एक दिवसीय उपवास रखेंगे। हिन्दुस्थान समाचार-hindusthansamachar.in