उप्र: कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या घटकर हुई 55,603, रिकवरी दर बढ़कर 84.19 प्रतिशत
उप्र: कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या घटकर हुई 55,603, रिकवरी दर बढ़कर 84.19 प्रतिशत
देश

उप्र: कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या घटकर हुई 55,603, रिकवरी दर बढ़कर 84.19 प्रतिशत

news

-चौबीस घंटे में संक्रमण के 4,403 नए मामले, 5,656 मरीज हुए स्वस्थ लखनऊ, 27 सितम्बर (हि.स.)। प्रदेश में बीते चौबीस घंटे में कोरोना संक्रमण के 4,403 नए मामले सामने आए। इसी दौरान 5,656 लोग स्वस्थ होकर डिस्चार्ज किए गए। राज्य में कई दिनों से नए मामलों की तुलना में स्वस्थ होने वालों की संख्या अधिक बनी हुई है। अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने रविवार को बताया कि इस समय कोरोना के 55,603 सक्रिय मामले हैं। सक्रिय मामलों में गिरावट का सिलसिला जारी है। अब तक कुल 3,25,888 लोग इलाज के बाद पूरी तरह ठीक होने के बाद घर भेजे जा चुके हैं। राज्य में संक्रमण के बाद कुल मौतों की संख्या 5,594 पहुंच गई है। इनमें बीते चौबीस घंटे में 77 लोगों की मौत हुई है। इसके साथ ही राज्य में मरीजों के ठीक होने की दर वर्तमान में और बढ़कर 84.19 प्रतिशत हो गई है। कल यह 83.64 प्रतिशत थी। एक दिन में 1.57 लाख कोरोना नमूनों की हुई जांच उन्होंने बताया कि राज्य की विभिन्न प्रयोगशालाओं में शनिवार को 1,57,710 कोरोना नमूनों की जांच की गई। वहीं अब तक कुल 96,25,076 कोरोना नमूनों की जांच की जा चुकी है। 27,826 मरीजों का होम आइसोलेशन में चल रहा इलाज उन्होंने बताया कि प्रदेश में वर्तमान में कुल सक्रिय मरीजों में से 27,826 लोग होम आइसोलेशन यानि घर पर रहकर इलाज की सुविधा का लाभ ले रहे हैं। बीते चौबीस घंटे में 2,928 लोगों ने होम आइसोलेशन का विकल्प चुना है। वहीं 3,564 लोग निजी अस्पतालों और 136 लोग होटल में एल-1 प्लस की सेमिपेड फैसिलिटी सुविधा के तहत अपना इलाज करा रहे हैं। इनके अलावा शेष राज्य सरकार की एल-1, एल-2 व एल-3 की व्यवस्था के तहत सरकारी अस्पतालों में भर्ती हैं। अभी तक कुल 2,05,846 लोग होम आइसोलेशन की सुविधा का लाभ ले चुके हैं। इनमें से 1,78,020 लोगों के इलाज का समय पूरा होने पर इन्हें डिस्चार्ज घोषित कर दिया गया है। 12.53 करोड़ लोगों के बीच पहुंची स्वास्थ्य टीमें स्वास्थ्य विभाग की टीमें लगातार विभिन्न क्षेत्रों में लोगों के बीच पहुंचकर सर्वेश्रण कर रही हैं। अभी तक 1,22,938 इलाकों में 3,85,822 टीमों ने 2,52,46,927 करोड़ घरों का सर्वेक्षण किया है। इसके तहत 12,53,69,388 करोड़ से अधिक लोगों की मेडिकल स्क्रीनिंग की गई है। हिन्दुस्थान समाचार/संजय/रामानुज-hindusthansamachar.in