उन्हें मौका मिला तो 15 साल पहले वाला धंधा फिर शुरू हो जाएगाः नीतीश
उन्हें मौका मिला तो 15 साल पहले वाला धंधा फिर शुरू हो जाएगाः नीतीश
देश

उन्हें मौका मिला तो 15 साल पहले वाला धंधा फिर शुरू हो जाएगाः नीतीश

news

- चकाई और सूर्यगढ़ा में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने की चुनावी सभा पटना, 15 अक्टूबर (हि.स.)। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि 15 साल पहले जिनको काम करने का मौका मिला तो कुछ किये नहीं। उस समय कानून का राज नहीं, बल्कि जंगल राज था और जब पति अंदर गये तो पत्नी राज हो गया। अगर उन लोगों को मौका मिला तो समझ लीजिए बिहार का फिर क्या होगा। 15 साल काम हुआ, लेकिन उसके पहले 15 साल जो धंधा था वह फिर से शुरू हो जाएगा। गुरुवार को नीतीश चकाई और सूर्यगढ़ा में आयोजित चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम में जदयू के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष अशोक चौधरी, सांसद ललन सिंह समेत कई अन्य नेता मौजूद थे। जदयू के प्रत्याशी संजय प्रसाद के पक्ष में सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि हम लोगों को जब बिहार में सेवा करने का मौका मिला तो लगातार काम कर रहे हैं। शिक्षा, स्वास्थ्य से लेकर पिछड़ और दबे कुचले समाज के लोगों के उत्थान का काम किया। आरक्षण देकर पिछड़े अतिपिछड़ों को सशक्त बनाया। पहले शाम होने बाद कोई घर से निकल नहीं पाता था। अपराध चरम पर था। अब अपराध के मामले में बिहार देश में 23वें नंबर पर पहुंच गया है। नीतीश ने कहा कि देश में शायद ही कोई राज्य होगा जहां पर इतनी बड़ी संख्या में महिला पुलिसकर्मी हों। आज आप देखिये बिहार में महिला पुलिसकर्मियों की कितनी बड़ी संख्या है। हमने महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने की हर मुमकिन कोशिश की है। आगे अगर मौका मिलेगा तो नौजवानों को नई तकनीक का प्रशिक्षण देंगे। उन्होंने कहा कि इन 15 सालों में हमने महिलाओं को सशक्त बनाया है। लड़कियों की शिक्षा पर ध्यान दिया। देश में पहला राज्य बिहार बना जब लड़कियों को स्कूल जाने के लिए साइकिल योजना लागू की। तब हमलोगों के बारे में तरह-तरह की चर्चा शुरू की गई, लेकिन हमने कहा कि किसी लड़की को कोई परेशान नहीं करेगा। अगली बार अगर हम सरकार में आये तो 12वीं पास करने पर 25 हजार और स्नातक पास करने पर 50 हजार रुपये हर लड़की गो देंगे।अगली बार हमारा लक्ष्य है कि हर खेत तक सिंचाई का पानी पहुंचायेंगे। जनता ने हमें मौका दिया तो कायम किया कानून का राज सभा में नीतीश ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव के शासनकाल को याद किया। कहा, पहले कितने लोगों का नरसंहार होता था। 2005 में जब जनता ने हमें मौका दिया तो हमने कानून का राज कायम किया। उन्होंने कहा कि 2005 से हम निरंतर जनता की सेवा कर रहे हैं। जो तबका किनारे पड़ा हुआ था, हाशिए पर था, उसे हमने विकास की मुख्यधारा से जोड़ा। कुछ लोगों को बड़ी चिढ़ है, हमारे खिलाफ बोलकर प्रचार पाते हैं तेजस्वी का नाम लिये बगैर नीतीश ने कहा कि कुछ लोग हमसे नाराज रहते हैं। उन्हें बड़ी चिढ़ है, लेकिन उनको न तो बिहार के बारे में जानकारी है, न काम करने का अनुभव और न ही समाज को एकजुट रखने का विचार। फिर भी कुछ भी बोलते रहते हैं। वे हमारे खिलाफ बोलकर अपना प्रचार पाते हैं। मेरे खिलाफ बोलने से अगर उन्हें प्रचार मिलता है तो बोलें। उससे हमको कोई मतलब नहीं है। मेरा तो काम ही है सेवा करना। जब तक मौका मिलेगा सेवा करते रहेंगे। बिहार को सक्षम और स्वावलंबी बनाएंगे नीतीश ने कहा कि हमलोगों के लिए पूरा बिहार परिवार है, लेकिन कुछ लोगों के लिए पति-पत्नी, बेटा-बेटी ही परिवार हैं। हमलोग पूरे बिहार को परिवार मानकर सेवा करते हैं, लेकिन कुछ लोग अपने परिवार की ही सेवा करते हैं। अगर काम करने का मौका देंगे तो एनडीए के लोग मिलकर आपकी फिर से सेवा करेंगे। बिहार को सक्षम और स्वावलंबी बनाएंगे। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव/विभाकर/सुनीत-hindusthansamachar.in