इस साल बंद हुए 179 प्रोफेशनल कॉलेज, पिछले नौ साल में सबसे ज्यादा
इस साल बंद हुए 179 प्रोफेशनल कॉलेज, पिछले नौ साल में सबसे ज्यादा
देश

इस साल बंद हुए 179 प्रोफेशनल कॉलेज, पिछले नौ साल में सबसे ज्यादा

news

शैक्षणिक वर्ष 2020-21 के दौरान 179 प्रोफेशनल कॉलेज बंद हो गए हैं, इनमें इंजीनियरिंग इंस्टीट्यूट और बिजनेस स्कूल भी शामिल हैं। अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआइसीटीई) के मुताबिक यह संख्या पिछले नौ साल में बंद होने वाले तकनीकी संस्थानों में सबसे ज्यादा है। बंद होने वाले इन 179 संस्थानों के अलावा 134 संस्थानों ने इस साल मंजूरी के लिए आवेदन नहीं किया क्योंकि पिछले पांच साल से उनके यहां काफी सीटें खाली रह जा रही थीं। करीब 44 संस्थानों को मंजूरी नहीं मिल सकी अथवा उनके खिलाफ कार्रवाई करते हुए मंजूरी वापस ले ली गई। मालूम हो कि 2019-20 में 92 संस्थान, 2018-19 में 89 संस्थान, 2017-18 में 134 संस्थान, 2016-17 में 163 संस्थान, 2015-16 में 126 संस्थान और 2014-15 में 77 संस्थान बंद हुए थे। शैक्षणिक वर्ष 2020-21 में फार्मेसी और आर्किटेक्चर संस्थानों में एआइसीटीई द्वारा स्वीकृत कुल 1.09 लाख सीटें घट गई हैं। एक वरिष्ठ एआइसीटीई अधिकारी ने बताया, ‘सुप्रीम कोर्ट के हालिया फैसले के मुताबिक शैक्षणिक वर्ष 2020-21 से वर्तमान आर्किटेक्चर व फार्मेसी कॉलेजों के कामकाज और नए कॉलेजों की स्थापना के लिए सिर्फ काउंसिल ऑफ आर्किटेक्चर और फार्मेसी काउंसिल ऑफ इंडिया की मंजूरी ही अनिवार्य होगी। लिहाजा एआइसीटीई की मंजूरी गैर-अनिवार्य हो गई है। परिणामस्वरूप ऐसे कई कॉलेजों ने एआइसीटीई से संबद्धता एवं स्वीकृति खत्म कर ली है जिसकी वजह से बड़ी संख्या में सीटें कम हो गई है। फार्मेसी और आर्किटेक्चर की इन सीटों को संबंधित नियामकों ने अपने नियंत्रण में ले लिया है।’ आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, 762 कॉलेजों में 69 हजार से ज्यादा सीटें भी घट गई हैं क्योंकि प्रवेश लेने वाले छात्र नहीं मिले या कोई खास कोर्स अथवा शाखा बंद हो गई।-newsindialive.in