आईएनएस विराट अपनी 'अंतिम यात्रा' पूरी करके आज पहुंचेगा अलंग
आईएनएस विराट अपनी 'अंतिम यात्रा' पूरी करके आज पहुंचेगा अलंग
देश

आईएनएस विराट अपनी 'अंतिम यात्रा' पूरी करके आज पहुंचेगा अलंग

news

- केंद्रीय मंत्री मनसुखभाई मांडविया, राज्य के शिक्षा मंत्री भूपेंद्रसिंह चुडासमा और नौसेना के वरिष्ठ अधिकारी करेंगे अगवानी हर्ष/पारस भावनगर/अहमदाबाद, 22 सितम्बर (हि.स.)। भारतीय नौसेना का युद्धपोत आईएनएस विराट 30 साल की सेवा करने के बाद अपनी अंतिम यात्रा पूरी करके आज भावनगर पहुंचेगा। युद्धपोत आईएनएस विराट को दुनिया के सबसे बड़े अलंग शिप ब्रेकिंग यार्ड में तोड़ दिया जाएगा। भावनगर का अलंग शिप ब्रेकिंग यार्ड बड़े बड़े पानी के जहाजों को तोड़ने के लिए मशहूर है। गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज आईएनएस विराट आज अपनी अंतिम यात्रा कर अलंग के भांगरवाड़ा पहुंचेगा। आईएनएस विराट दुनिया का सबसे पुराना विमानवाहक पोत और भारतीय नौसेना का ऐतिहासिक युद्धपोत है। आईएनएस विराट को यहां अलंग के शिप यार्ड में तोड़कर नष्ट कर दिया जायेगा। केंद्रीय मंत्री मनसुखभाई मांडविया, राज्य के शिक्षा मंत्री भूपेंद्रसिंह चुडासमा और नौसेना के वरिष्ठ अधिकारी यहां आईएनएस विराट की अगवानी करेंगे। यहां सीमा शुल्क, जीपीसीबी सहित विभिन्न विभागों की कार्यवाही श्रीराम ग्रुप के प्लॉट नंबर 9 में 28 सितम्बर को समुद्र तट पर पूरी की जाएगी। इस जहाज को श्रीराम ग्रुप ने इसके सेवानिवृत्ति के बाद 38.54 करोड़ रुपये में खरीदा था। श्रीराम ग्रुप ऑफ़ इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष मुकेश भाई पटेल ने कहा कि आईएनएस विराट ने देश को गौरवान्वित किया है, अब युद्धपोत को विदाई देने का समय है। युद्धपोत को अंतिम विदाई देने वाले कार्यक्रम के लिए मुख्यमंत्री विजय भाई रूपानी और उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल को आमंत्रित किया गया है, लेकिन अभी तक उनकी ओर से पुष्टि नहीं हुई है। उल्लेखनीय है कि भारतीय नौसेना का जहाज आईएनएस विराट की सेना में 30 साल की सेवा पूरी होने के बाद उसे 2017 में सेवानिवृत्त हो गया। यह एकमात्र युद्धपोत है, जिसने यूके और भारतीय नौसेनाओं की सेवा की है।आईएनएस विराट युद्धपोत ने कई मौको पर महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। हिन्दुस्थान समाचार-hindusthansamachar.in