आईआईटी दिल्ली का 51वां दीक्षांत समारोह : निशंक ने 2019 छात्रों को पदक और डिग्री प्रदान की
आईआईटी दिल्ली का 51वां दीक्षांत समारोह : निशंक ने 2019 छात्रों को पदक और डिग्री प्रदान की
देश

आईआईटी दिल्ली का 51वां दीक्षांत समारोह : निशंक ने 2019 छात्रों को पदक और डिग्री प्रदान की

news

-दीपांशु जिंदल को मिला राष्ट्रपति स्वर्ण पदक -जोमेटो के संस्थापक और सह-संस्थापक को प्रतिष्ठित अल्युमनी पुरस्कार -पीएचडी डिग्री प्राप्त करने वालों में 30 प्रतिशत महिलाएं नई दिल्ली, 07 नवम्बर (हि.स.)। केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक ने शनिवार को भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) दिल्ली के 51वें वार्षिक दीक्षांत में शैक्षणिक सत्र 2019-20 के लिए 873 स्नातक, 848 स्नातकोत्तर और 298 पीएचडी सहित कुल 2019 विद्यार्थियों को डिग्री और पदक प्रदान किए। पीएचडी डिग्री प्राप्त करने वालों में 30 प्रतिशत महिलाएं हैं। कोरोना के मद्देनजर आईआईटी के डोगरा हॉल में सीमित उपस्थिति के साथ आयोजित समारोह में केंद्रीय मंत्री निशंक ने दीपांशु जिंदल को राष्ट्रपति स्वर्ण पदक से सम्मानित किया। वहीं आशी अग्रवाल को डायरेक्टर स्वर्ण पदक और मुस्कान कुलारिया को डॉ शंकर दयाल शर्मा गोल्ड मेडल प्रदान किया। शिक्षामंत्री ने इसके अलावा छह छात्रों को उनके बेहतर प्रदर्शन के लिए परफेक्ट टेन स्वर्ण पदक से सम्मानित किया। इनमें एन. जयकृष्णन, हिमांशु यादव, वेणुगोपाल अग्रवाल, ऋत राय, शुभम चौधरी और मुस्कान कुलारिया शामिल हैं। केंद्रीय शिक्षा मंत्री के साथ कार्यक्रम में मौजूद शिक्षा राज्य मंत्री संजय धोत्रे ने 14 छात्रों को 'इस्टीट्यूट सिल्वर मेडल' प्रदान किया। इसमें सिमर कौर मतेवाल, जशन सिंह सूरी, सिद्धांत अरोड़ा, तरुण गुप्ता, श्रेया जोहरी, आशुतोष राज, अमित चौधरी, खुशल सेठी, सलिल चंद्रा, सक्षम जैन, क्षितिज गुप्ता, चाहत चावला, स्वर्णवा सान्याल, खुशंक सिंघल शामिल हैं। प्रतिष्ठित अल्युमनी पुरस्कार समारोह में प्रो. एच.वी. जगदीश (1981), प्रो. नेमकुमार बांठिया (1982), प्रो. नेविल पिंटो (1980), पॉलिसी बाजार के सह-संस्थापक और ग्रुप सीईओ यश दहिया (1994), जोमेटो के संस्थापक और सीईओ दीपिंदर गोयल (2005) को उद्यमिता के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया। डिस्टिंगुइश्ड अल्युमनी सर्विस अवार्ड्स इस साल आइवीकैप वेंचर्स के संस्थापक और मैनेजिंग पार्टनर विक्रम गुप्ता (1993) को डिस्टिंगुइश्ड अलयुमनी सर्विस अवार्ड्स प्रदान किया गया। उन्हें यह पुरस्कार इंस्टीट्यूट के एंडोमेंट फंड की स्थापना में विशेष योगदान के लिए दिया गया। ग्रेजुएट ऑफ लास्ट डेकेड (जीओएलडी) युवा अल्युमनी को पहचानने के लिए आईआईटी दिल्ली ने इस साल से एक नया अल्युमनी पुरस्कार की शुरुआत की। पिछले दशक में स्नातक कर अपने क्षेत्र में विशेष योगदान देने वाले पूर्व छात्र को इस श्रेणी के तहत सम्मानित किया जाएगा। कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय में असिस्टेंट प्रोफेसर संजम गर्ग (2008) और जोमेटो के सह-संस्थापक पंकज चड्डा (2007) को दिया गया। समारोह में 298 पीएचडी सहित कुल 2019 छात्रों को डिग्रियां प्रदान की गईं। इसमें मास्टर ऑफ साइंस (रिसर्च) 13, एम टेक 522, मास्टर ऑफ डिजायन 20, एमबीए 116, मास्टर ऑफ साइंस 151, पीजी डिप्लोमा ऑफ आईआईटी दिल्ली (नवन कंस्ट्रक्शन) 25, डिप्लोमा ऑफ आईआईटी दिल्ली (डीआईआईटी) 1, एम टेक (डूअल डिग्री प्रोग्राम) 105, एमटेक अंडर एडवांस्ड स्टेंडिंग 10, एमटेक (5 साल इंटीग्रेटिड प्रोग्राम) 1, बीटेक 744 और अंडरग्रेजुएट डिप्लोमा 13 शामिल हैं। हिन्दुस्थान समाचार/सुशील-hindusthansamachar.in