असम बाढ़ः 26 जिलों के 28,32,410 लोग प्रभावित
असम बाढ़ः 26 जिलों के 28,32,410 लोग प्रभावित
देश

असम बाढ़ः 26 जिलों के 28,32,410 लोग प्रभावित

news

गुवाहाटी, 23 जुलाई (हि.स.)। राज्य में बाढ़ की स्थिति में सुधार के आसार दिखाई देना आरंभ हुआ ही था कि फिर से स्थिति गंभीर होने लगी है। मंगलवार तक 28 से घटकर 24 जिलों तक बाढ़ की स्थिति दर्ज हुई थी। लेकिन, गुरुवार को फिर से बाढ़ का दायरा 26 जिलों तक पहुंच गया है। वर्तमान में बाढ़ से अभी भी 26 जिले प्रभावित हैं। धीरे-धीरे बाढ़ का प्रभाव एक बार फिर से बढ़ने लगा है। उल्लेखनीय है कि राज्य में 22 मई से बाढ़ के हालात जो बने, वह एक बार फिर से गंभीर हो गए है। हालांकि, बीच-बीच में स्थिति काफी सामान्य हुई थी लेकिन, अचानक फिर से बरसात तेज हो गई, जिसके चलते बाढ़ के हालात बेकाबू हो गए हैं। केंद्रीय जल आयोग की ओर जारी आंकड़ों के अनुसार निमातीघाट (जोरहाट), तेजपुर (शोणितपुर), गुवाहाटी (कामरूप मेट्रो), 'ग्वालपारा, धुबरी में ब्रह्मपुत्र नद; नुमालीगढ़ (गोलाघाट) में धनसिरी; एनटी रोड क्रॉसिंग (शोणितपुर) में जिया भराली; धरमतुल (नगांव) में कपिली; रोड ब्रिज (बरपेटा) में बेकी; करीमगंज में कुशियारा और गोलकगंज (धुबरी) में संकोष नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। असम राज्य आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से मंगलवार की देर शाम को जारी आंकड़ों के अनुसार असम के धेमाजी, लखीमपुर, शोणितपुर, बिश्वनाथ, दरंग, बाक्सा, नलबाड़ी, बरपेटा, चिरांग, बंगाईगांव, कोकराझार, धुबरी, दक्षिण सालमार, ग्वालपारा, कामरूप, कामरूप (काम), मोरीगांव, नगांव, गोलाघाट, जोरहाट, माजुली, शिवसागर, डिब्रूगड़, तिनसुकिया, पश्चिम कार्बी आंग्लांग और कछार आदि जिला के 74 राजस्व सर्किल के 2634 गांवों के 28,32,410 लोग प्रभावित हुए हैं। 26 जिलों के 1,19,435.93 हेक्टयर कृषि भूमि जलमग्न हो गई है। बाढ़ प्रभावित लोगों को राहत पहुंचाने के लिए 456 राहत शिविर बनाए गए हैं। राहत शिविरों में कुल 47,213 व्यक्ति रह रहे हैं। बाढ़ में गुरुवार को 04 व्यक्तियों की मौत हो गई। राज्य में गत 22 मई से आरंभ बाढ़ में अब तक कुल 92 लोगों की मौत हुई है। बाढ़ के चलते 8,89,419 बड़े जानवर, 4,55,390 छोटे जानवर तथा 9,26,490 पोल्ट्री बाढ़ से प्रभावित हुए हैं। 04 घर बाढ़ में पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गए हैं। बाढ़ प्रभावित लोगों को राहत पहुंचाने के लिए एसडीआरएफ और एनडीआरएफ, सर्किल अधिकारी, स्थानीय नागरिक, आईडब्ल्यूटी की टीमों को तैनात किया गया है। गुरुवार को बाढ़ प्रभावित इलाकों में 88 नावों को राहत पहुंचाने के लिए तैनात किया गया था। बाढ़ में फंसे 1102 लोगों को बाहर निकलाकर सुरक्षित इलाकों में पहुंचाया गया है। बाढ़ प्रभावितों के बीच सरकार की ओर से 5005.49 क्वींटल चावल, 965.98 क्वींटल दाल, 289.78 क्वींटल नमक, 7466.05 लीटर सरसों का तेल के अलावा अन्य सामग्रियों का वितरण किया गया है। बाढ़ के चलते कई सड़कें, बांस व आरसीसी के कई पुलों को भी नुकसान पहुंचा है। हिन्दुस्थान समाचार/ अरविंद-hindusthansamachar.in