अलीगढ़ : शराब तस्कर को पकड़ने गई पुलिस पर हमला, दारोगा सहित महिला सिपाही घायल
अलीगढ़ : शराब तस्कर को पकड़ने गई पुलिस पर हमला, दारोगा सहित महिला सिपाही घायल
देश

अलीगढ़ : शराब तस्कर को पकड़ने गई पुलिस पर हमला, दारोगा सहित महिला सिपाही घायल

news

संजीव प्रताप अलीगढ़, 17 जुलाई (हि.स.)। अलीगढ़ के थाना दादों इलाके के गांव सांकरा में गुरुवार रात्रि शराब तस्करी के आरोपी को पकड़ने गई पुलिस पर लोगों ने हमले के साथ पथराव कर दिया। महिलाओं ने आरोपी को पुलिस से छुड़ा लिया और पथराव कर दिया। पुलिस टीम कुछ समझ पाती, इसी बीच छतों से भी पथराव होने लगा। जिसमें एक दारोगा के सिर में गंभीर चोट पहुंची हैं। दो महिला सिपाही भी घायल हुईं हैं। घटना से पुलिस महकमे में खलबली मच गई। सूचना पर दो थानों का फोर्स पहुंचती, तब तक आरोपी मौके से भाग गए। जानकारी के अनुसार, जिलेभर में पुलिस द्वारा फरार अपराधियों को पकड़ने का अभियान चल रहा है। इसी के तहत थाना पालीमुकीमपुर से शराब तस्करी के मामले में फरार चल रहे आरोपी जागन पुत्र लाखन उर्फ कड्डे और उसका बेटा संजू निवासी सांकरा को पकड़ने के लिए पाली मुकीम पुर व दादों थाने की पुलिस की टीम रात्रि में गांव पहुंची थी। टीम में सांकरा चौकी इंचार्ज नीलेश, दारोगा हरिकेश यादव, दो महिला सिपाही सहित एक दर्जन पुलिसकर्मी शामिल थे। पुलिस ने आरोपी जागन को पकड़ लिया और गाड़ी में बैठाकर चलने लगी। तभी पीछे से जागन के बेटी व बेटे आ गए। महिलाओं ने पुलिस टीम का विरोध शुरू करते हुए हाथापाई कर दी। देखते ही देखते लाठी-डंडों से पुलिस टीम पर हमला कर दिया। आरोपी के साथियों ने पत्थर भी फेंके और जागन को छुड़ा लिया। पुलिस ने भी महिलाओं को फटकारा, लेकिन तब तक छतों से पथराव शुरू हो गया। देखते ही देखते गांव में भगदड़ मच गई। जिसमें दारोगा हरिकेश के सिर में गंभीर चोट आई और वह अचेत होकर जमीन पर गिर गए। इसके अलावा महिला सिपाही शिवानी व अनीता के भी पत्थर लगे हैं। जिससे उन्हें गुम चोट पहुंची है। इसी बीच खबर पाकर एसओ पालीमुकीमपुर और एसओ दादो पुलिस फोर्स के साथ गांव पहुंच गए। लेकिन तब तक सभी आरोपी वहां से भाग चुके थे। पुलिस के अनुसार जागन कच्ची शराब बनाकर बेचता है। पालीमुकीमपुर थाने के गांव बबरौतिया भरनैरा में जागन की भट्टी थी। जहां रोजाना 400 लीटर शराब बनती थी। शराब को अलग-अलग इलाकों में सप्लाई करता था। दो महीने पहले पुलिस टीम ने छापा मारकर 250 लीटर शराब पकड़ी थी। पुलिस ने दो लोग भी गिरफ्तार किये थे। मगर तब जागन और उसका बेटा संजू भाग निकले थे और तभी से दोनों फरार हैं। इधर, सांकरा गांव के प्रधान ब्रजेश यादव ने बताया कि जागन का परिवार किसी से मतलब नहीं रखता। उससे पूरा गांव परेशान है। कुछ ग्रामीणों ने जागन की तुलना कानपुर के कुख्यात बदमाश विकास दुबे से भी की है। अतरौली सीओ प्रशांत सिंह ने बताया कि दादों के गांव सांकरा में पुलिस शराब तस्करी में फरार चल रहे आरोपी को पकड़ने गई थी। आरोपी के परिवार वालों ने पुलिस टीम पर हमला कर दिया। जिसमें दारोगा हरिकेश को चोट लगी है। आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया है। हिन्दुस्थान समाचार-hindusthansamachar.in