पुत्र-जन्म-के-साथ-इस-राजघराने-400-साल-श्राप-का-अंत-जानिए-किसने-दिया-था-ये |Mysorecursemysor Hindi Latest News 

बड़ी खबरें

पुत्र जन्म के साथ इस राजघराने के 400 साल के श्राप का अंत, जानिए किसने दिया था ये श्राप

पुत्र जन्म के साथ इस राजघराने के 400 साल के श्राप का अंत, जानिए किसने दिया था ये श्राप

इतिहास के अनुसार यह श्राप (Mysore curse) इस राजघराने का 1612 से पीछा कर रहा है। 1612 में विजयनगर की महारानी अलमेलम्मा ने यह श्राप मैसुर खानदान को दिया था। बताया जाता है कि विजयनगर के पतन के बाद मैसुर के वाडियार राजा के आदेश पर विजयनगर की संपत्ति को लूटा गया। उस दौरान विजयनगर की महारानी अलमेलम्मा के पास काफी मात्रा में गहने थे। वाडियार राजा के आदेश पर दूतो को यह गहने लेने भेजा गया। पर रानी अलमेलम्मा के मना करने पर फौज भेज कर वह गहने लाये गये। इस बात से नाराज होकर अलमेलम्मा ने मैसुर राजघराने को यह श्राप दिया कि वाडियार राजवंश के राजा रानी की गौद हमेशा सुनी रहेगी। यह श्राप देने के बाद रानी अलमेलम्मा
www.indiakinews.com
पूरी स्टोरी पढ़ें »


www.indiakinews.com से अधिक समाचार