नगर निगम में चुनाव के 7 माह के बाद बुलवाई गयी विशेष बैठक, भाजपा पार्षदों ने क‍िया बह‍िष्‍कार
नगर निगम में चुनाव के 7 माह के बाद बुलवाई गयी विशेष बैठक, भाजपा पार्षदों ने क‍िया बह‍िष्‍कार
news

नगर निगम में चुनाव के 7 माह के बाद बुलवाई गयी विशेष बैठक, भाजपा पार्षदों ने क‍िया बह‍िष्‍कार

news

रायगढ़, 24 जुलाई (हि.स.)। नगर निगम चुनाव के साथ ही 6 जनवरी को नई शहर सरकार का गठन हो गया था। चुनाव के 7 माह बाद पहली बार पार्षदों की बैठक तो बुलवाई गयी, लेकिन साधरण सम्मेलन के स्थान पर विशेष सम्मेलन बुलवाया गया। शुक्रवार को विशेष सम्मेलन के शुरू होते ही भाजपा पार्षदों ने सवालों की झड़ी लगा दी। भाजपा पार्षदों ने अपनी कड़ी आपत्ति जताते हुए बैठक का बहिष्कार कर दिया। भाजपा पार्षद दल के नेता पंकज कंकरवाल ने कहा कि इसके पूर्व बैठक की सूचना दी गई थी लेकिन लॉकडाउन होने से बैठक नहीं हो पाई। आज इस विशेष सम्मेलन के स्थान पर परिषद की बैठक बुलवाई जानी थी और पूर्व में जो पार्षदों ने सवाल लगाए थे, उन्हें जोड़ा जाना था लेकिन ऐसा कुछ नहीं किया गया। उन्होंने भाजपा पार्षदों की ओर से लिखित में अपनी आपत्ति दर्ज कराई जिसके बाद बैठक के बहिष्कार की घोषणा करते हुए सभी भाजपा पार्षद बाहर निकल गए। हालांकि बहुमत के आधार पर सभापति ने बैठक की ओपचारिकता पूरी करवा ली। इधर मीडिया से चर्चा करते हुए भाजपा पार्षद दल के नेता पंकज कंकरवाल ने कहा कि सभापति की मंशा सही नहीं है। सीसी टीवी का भुगतान, मास्क खरीदी, सेनेटाइजर खरीदी में भ्र्ष्टाचार के मुद्दे पर प्रश्न पूछे जाने थे इसलिए साधारण सम्मेलन की बैठक नहीं बुलवाई गयी। डेंगू के बहाने से बैठक की ओपचारिकता की जा रही है। इधर सभापति जयंत ठेठवार ने भाजपा पार्षदों को बहिष्कार की राजनीति करने के बजाय बैठक में रह कर सुझाव देने की बात कही। हिन्दुस्थान समाचार /रघुवीर प्रधान-hindusthansamachar.in