मुखर्जी की वजह से ही बंगाल, पंजाब और असम है भारत का हिस्सा: नड्डा
मुखर्जी की वजह से ही बंगाल, पंजाब और असम है भारत का हिस्सा: नड्डा
news

मुखर्जी की वजह से ही बंगाल, पंजाब और असम है भारत का हिस्सा: नड्डा

news

नई दिल्ली, 23 जून (हि.स.)। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा है कि आजादी के बाद सारा असम, पंजाब का बहुत बड़ा हिस्सा जाने वाला था। किंतु, डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने बहुत बड़ा आंदोलन कर बंगाल, पंजाब और असम को बचाया और ये राज्य भारत की धरती पर रहे। नड्डा ने मंगलवार को डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि डॉ मुखर्जी एक संभ्रांत परिवार से थे और बहुत होनहार विद्यार्थी थे। वो बहुआयामी प्रतिभा के धनी थे। मात्र 33 साल की आयु में वे कलकत्ता विश्वविद्यालय के सबसे कम उम्र के कुलपति नियुक्त हुए। किसी के सहयोग से नहीं, बल्कि अपनी विद्वता और कर्म के आधार पर उन्होंने ये मुकाम प्राप्त किया। नड्डा ने दिल्ली प्रदेश भाजपा को बधाई देते हुए कहा कि प्रदेश कार्यकर्ताओं ने इस वर्चुअल मीटिंग के माध्यम से बलिदान दिवस को मनाना तय किया है। संक्रमण कितना भी हो, हम नहीं रुकेंगे, हम नहीं डिगेंगे। हम रहेंगे अपने पथ पर और चलते रहेंगे, चलते रहेंगे। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी एक बहता प्रवाह थे। मंत्री रहकर मंत्री पद से उन्होंने इस्तीफा भी दिया। कोई पद उनका लक्ष्य नहीं था। जब कोई पद उनके लक्ष्य में अड़ंगा बना तो उन्होंने वो पद त्याग दिया। आजादी के बाद सारा असम, पंजाब का बहुत बड़ा हिस्सा जाने वाला था। किंतु, डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने बहुत बड़ा आंदोलन कर बंगाल, पंजाब और असम को बचाया और ये राज्य भारत की धरती पर रहे। हिन्दुस्थान समाचार/अजीत/बच्चन-hindusthansamachar.in