उदयपुर में 30 मई को कोरोना से हुई थी वृद्धा की मौत, प्रशासन ने 18 दिन बाद दी जानकारी
उदयपुर में 30 मई को कोरोना से हुई थी वृद्धा की मौत, प्रशासन ने 18 दिन बाद दी जानकारी
news

उदयपुर में 30 मई को कोरोना से हुई थी वृद्धा की मौत, प्रशासन ने 18 दिन बाद दी जानकारी

news

उदयपुर, 17 जून (हि.स.)। उदयपुर के कांजी का हाटा क्षेत्र में कोरोना संक्रमित वृद्धा की मौत 30 मई को हो गई थी। इसकी सूचना सीएमएचओ उदयपुर द्वारा 17 जून बुधवार को तब जारी की गई जब मीडियाकर्मियों ने उनसे जयपुर की रिपोर्ट में दर्शाए गए आंकड़ों को लेकर जानकारी मांगी। दरअसल, जयपुर की रिपोर्ट में 14 जून तक उदयपुर में कोरोना से मृत्यु का आंकड़ा एक दर्शाया जा रहा था। इसके बाद यह आंकड़ा 2 हो गया जबकि अधिकृत रूप से सीएमएचओ की ओर से इसकी कोई जानकारी जारी नहीं की गई कि आखिर किसकी मृत्यु कोरोना से हुई। जब सीएमएचओ डॉ. दिनेश खराड़ी से इस बारे में जानकारी चाही गई तो उन्होंने कहा कि कोरोना के मामले में पूरी तरह तथ्यात्मक रिपोर्ट व डेथ समरी आने के बाद ही पुष्टि की जा सकती है। महाराणा भूपाल चिकित्सालय से रिपोर्ट प्राप्त होने के बाद ही जयपुर मुख्यालय को सूचित किया गया और बुधवार को सूचना जारी की जा सकी। अब तक उदयपुर में कोरोना से दो की मृत्यु की पुष्टि की गई है। एक बड़ी माहेश्वरियों की सेहरी निवासी 76 वर्षीय वृद्ध हैं और दूसरी 80 वर्षीय वृद्धा कांजी का हाटा की रहने वाली हैं। दो अन्य की भी कोरोना के उपचार के दौरान मौत हुई थी लेकिन उन्हें कैंसर व अन्य बीमारियां होने के कारण कोरोना से मृत्यु नहीं माना गया। कोरोना से मौत के इस मामले में मरने वाली महिला का पता रिपोर्ट में मण्डी की नाल बताने से भी असमंजस हो गया था, सीएमएचओ ने बाद में संशोधित करते हुए बताया कि मृतका कांजी का हाटा निवासी थी। हॉस्पिटल की रिपोर्ट में पता अंकित करने में त्रुटि रह गई। हिन्दुस्थान समाचार/सुनीता कौशल / ईश्वर-hindusthansamachar.in