31 मार्च तक घरों से ही निपटाएं सभी कार्य : एचआरडी मंत्रालय ने शैक्षणिक संस्थान प्रमुखों को लिखा पत्र
31 मार्च तक घरों से ही निपटाएं सभी कार्य : एचआरडी मंत्रालय ने शैक्षणिक संस्थान प्रमुखों को लिखा पत्र
news

31 मार्च तक घरों से ही निपटाएं सभी कार्य : एचआरडी मंत्रालय ने शैक्षणिक संस्थान प्रमुखों को लिखा पत्र

news

31 मार्च तक घरों से ही निपटाएं सभी कार्य : एचआरडी मंत्रालय ने शैक्षणिक संस्थानों के प्रमुखों को लिखा पत्र दरभंगा, 22 मार्च (हि.स.)। हाल ही में सामने आए कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए मानव संसाधन विकास मंत्रालय, नई दिल्ली भी खासा चिंतित है। मंत्रालय के सचिव अमित खरे ने इस जानलेवा वायरस से बचने के लिए सामाजिक दूरी यानी सोशल डिस्टेन्सिंग को जरूरी बताते हुए 21 मार्च को एआई सीटीई, एनसीटीई, सीबीएसई, एनटीए, एनडीएस समेत मंत्रालय के अधीन संचालित सभी स्वायत्त शैक्षणिक संस्थान प्रमुखों को एक एहतियाती पत्र लिखा है। पत्र में सचिव खरे ने इन संस्थान प्रमुखों को स्पष्ट निर्देश दिया है कि 31 मार्च तक सभी शिक्षकों एवम शिक्षकेतर कर्मियों से उनके घरों से ही कार्य कराएं।यानी इन लोगो को अपने घरों से कार्य निपटाने की अनुमति रहेगी। पत्र में स्थिति और स्पष्ट करते हुए सचिव ने फेकल्टी मेम्बर, शिक्षकों एवम शोधार्थियों से उम्मीद जताई है कि वे इस अवधि का शैक्षणिक गतिविधियों में बेहतर उपयोग करेंगे। साथ ही ऑनलाईन कॉन्टेंट, ऑनलाईन टीचिंग एवम ऑनलाईन एवेल्युशन को विकसित करने की भी सचिव ने सभी से अपील की है। उक्त आशय की जानकारी देते हुए संस्कृत विश्वविद्यालय के पीआरओ निशिकांत सिंह ने बताया कि एमएचआरडी ने एडहॉक यानी तदर्थ एवम कॉन्टेक्ट यानी अनुबंध दोनों स्तर पर बहाल कर्मियों को भी राहत देते हुए निदेशित किया है कि इस कथित अवधि 31 मार्च तक ये सभी कर्मी भी घर से ही कार्यों को निपटाएंगे एवम इस अवधि में इनकी सेवा बहाल मानी जायेगी। सिर्फ ऐसे कर्मियों की अनुबंध अवधि 31 मार्च तक की रहनी चाहिए। हिन्दुस्थान समाचार/मनोज-hindusthansamachar.in