महाकुंभ-2019-संगम-स्नान-के-बाद-करें-माता-अलोप-शंकरी-दर्शन-52-शक्तिपीठों-में-से-है-एक |Mahakumbh Importance Alopi Shankari Temple Devi महाकुंभ संगम स्नान माता अलोप शंकरी दर्शन शक्तिपीठों Hindi Latest News 

Breaking News

बड़ी खबरें

महाकुंभ 2019: संगम स्नान के बाद करें माता अलोप शंकरी के दर्शन, 52 शक्तिपीठों में से है एक

महाकुंभ 2019: संगम स्नान के बाद करें माता अलोप शंकरी के दर्शन, 52 शक्तिपीठों में से है एक

प्रयाग में ललिता पीठ के रूप में सर्वाधिक मान्यता अलोपशंकरी देवी को प्राप्त है। यह शक्तिपीठ संगम से पश्चिम और अक्षयवट के वायव्य कोण उत्तर पश्चिम में स्थित है। सरस्वती कवच के अनुसार करांगुल्यौ शंकरी यानी यहां पर सती के हाथ की अंगुलियां गिरी थी। सती के हाथ की गिरी अंगुलियों से अलोपशंकरी व भैरव प्रकट हुए थे। कहते हैं कि देवी का जो अंग गिरा था वह अलोप हो गया था इसलिए यहां देवी को अलोपशंकरी कहा जाता है। यह मंदिर माता के 52 शक्तिपीठों में से एक है।
inextlive.jagran.com
पूरी स्टोरी पढ़ें »

अन्य सम्बन्धित समाचार


inextlive.jagran.com से अधिक समाचार