कोलकाता में रेमडेसिविर की कालाबाजारी करते तीन गिरफ्तार

कोलकाता में रेमडेसिविर की कालाबाजारी करते तीन गिरफ्तार
three-arrested-for-black-marketing-of-remedesvir-in-kolkata

कोलकाता, 13 मई (हि. स.)। कोरोना संकट के बीच रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी की खबरें पश्चिम बंगाल से भी आने लगी हैं। राजधानी कोलकाता पुलिस ने रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करते तीन लोगों गिरफ्तार किया है। कोलकाता पुलिस के संयुक्त आयुक्त (अपराध) मुरलीधर शर्मा ने गुरुवार सुबह बताया कि बुधवार रात के समय गरियाघाट के रहने वाले शंकर सिंह ने पुलिस को फोन कर बताया था कि दो लोग उसे रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचने आये हैं और महंगी कीमत पर एक वायल बेच रहे हैं। इकबालपुर थाना पुलिस तुरंत 58 नंबर डीएच रोड जा पहुंची। पुलिस ने रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचने की कोशिश कर रहे राजकुमार रॉय चौधरी और इंद्रजीत हजरा नाम के दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया। 45 वर्षीय राजकुमार कोलकाता के कसबा थाना अंतर्गत 118 ए सरत बोस रोड और 41 वर्षीय इंद्रजीत शाहपुर कॉलोनी का निवासी हैं। पुलिस ने इनके पास से रेमडेसिविर इंजेक्शन की 12 वायल बरामद किया है। दोनों से पूछताछ के बाद पता चला कि ये देवव्रत साहू नाम से एक अन्य व्यक्ति के पास से रेमडेसिविर लेकर आए थे। पुलिस ने बिना देरी किए हेस्टिंग्स थाना इलाके के छह नंबर चैपल रोड के फ्लैट नंबर वन बी में 36 वर्षीय देवव्रत साहू के घर छापेमारी की और120 वायल रेमडेसिविर बरामद कर ली। प्रत्येक वायल में100 मिलीग्राम दवा है। पूछताछ में इन लोगों ने बताया है कि कालाबाजारी के लिए रेमडेसिविर को खरीद कर रखे थे। तीनों को गिरफ्तार कर उन पर आपदा प्रबंधन कानून के तहत मामले दर्ज किए गए हैं। मुरलीधर शर्मा ने बताया है कि जिन दोनों आरोपितों को पहले गिरफ्तार किया गया था, वे रेमडेसिविर इंजेक्शन को 25 हजार रुपये में बेचने की कोशिश कर रहे थे, जबकि इसकी वास्तविक कीमत महज 2700 रुपये है। हिन्दुस्थान समाचार/ ओम प्रकाश

अन्य खबरें

No stories found.