state-government-strict-stringent-rules-on-travelers-coming-to-metropolis-without-corona-report
state-government-strict-stringent-rules-on-travelers-coming-to-metropolis-without-corona-report
पश्चिम-बंगाल

कोरोना रिपोर्ट के बिना यात्रियों के महानगर आने पर राज्य सरकार सख्त, कड़े हुए नियम

news

कोलकाता, 03 मार्च (हि. स.)। चार राज्यों के छह शहरों से विमान से कोलकाता आने पर कोरोना जांच की निगेटिव रिपोर्ट साथ में लाना अनिवार्य है। आरोप है कि गत 23 फरवरी को राज्य सरकार द्वारा जारी इस निर्देश को अधिकांश विमानयात्री ही नहीं मान रहे हैं। इसलिए निर्णय लिया गया है कि जिन चार राज्यों से कोलकाता आने पर निषेधाज्ञा है, उन राज्यों के एअरपोर्ट पर विमान के मुख्यद्वार के सामने कोलकाता आनेवाले यात्रियों से कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट मांगी जाएगी। आरोप है कि बिना रिपोर्ट के ही अधिकांश यात्री उन छह शहरों से महानगर में आ रहे हैं। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राज्य सरकार की तरफ से प्रत्येक एअरलाइंस कंपनी को कड़े शब्दों में कहा गया है कि यदि अब कोई यात्री बिना कोरोना नेगेटिव प्रमाणपत्र के महानगर में आता है तो संबंधित एअरलाइंस कंपनी के खिलाफ कड़े कदम उठाए जाएंगे। हालांकि यह अभी तक स्पष्ट नहीं किया गया है कि ऐसे मामले में एअरलाइंस कंपनी के खिलाफ क्या कदम उठाया जाएगा। वहीं कुछ एअरलाइंस कंपनियों का आरोप है कि काफी यात्री इस नियम को नहीं मान रहे हैं। वे अपने परिजनों व जान-पहचान वालों के साथ एअरपोर्ट पर पहुंचकर हंगामा मचा रहे हैं। कुछ लोग तो आवश्यक कारण बताकर टिकट लेकर विमान में सवार हो जा रहे हैं। हालांकि राज्य सरकार एअरलाइंस कंपनियों के दावों को खारिज कर रही है। राज्य सरकार का कहना है कि यह निर्देशिका 23 फरवरी को जारी किया गया था लेकिन इसे 27 फरवरी से लागू किया गया है। बीच में एअरलाइंस कंपनियों को चार दिनों का समय मिल गया था। उस समय में यात्रियों को इस नियम की जानकारी क्यों नहीं दी गयी थी? राज्य सरकार का कहना है कि कोरोना वायरस का प्रकोप जिन राज्यों में फिर से बढ़ रहा है उनमें केरल, महाराष्ट्र, आंध्रप्रदेश और कर्नाटक शामिल हैं। इन चार राज्यों के छह शहरों बंगलुरू, हैदराबाद, कोचि, मुंबई, पूणे और नागपुर से कोलकाता में सीधी उड़ानें आती है। राज्य के नये नियमानुसार इन छह शहरों से विमान में सवार होकर सीधे कोलकाता, बागडोगरा या अंडाल में आने के लिए कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट साथ में लाना अनिवार्य है। केवल दो साल से कम आयु के बच्चों को इस नियम में छुट दी जाएगी। बताया जाता है कि मंगलवार की बैठक में राज्य सरकार की तरफ से कहा गया है कि आपातकाल की परिस्थिति में किसी को छुट दी जाएगी या नहीं, इस बारे में सोचा जा रहा है। इसके अलावा किसी भी यात्री को बिना कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट के महानगर में नहीं आने दिया जाएगा। एक एअरलाइंस कंपनी के अधिकारी का कहना है कि अब विमान के मुख्यद्वार पर खड़े होकर हर यात्री से वह सर्टिफिकेट मांगा जाएगा। पहले भी यह किया जा रहा था लेकिन उससे यात्री नाराज होकर एकजुट होकर एअरपोर्ट पर विरोध-प्रदर्शन करना शुरू कर दे रहे थे। इसलिए उन्हें कोलकाता आने देने पर हम मजबूर हो गये थे। हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश/गंगा