state-bjp-letter-to-prime-minister-demanding-ban-on-kisan-samman-nidhi
state-bjp-letter-to-prime-minister-demanding-ban-on-kisan-samman-nidhi
पश्चिम-बंगाल

प्रदेश भाजपा ने प्रधानमंत्री को लिखा पत्र, किसान सम्मान निधि पर रोक लगाने की मांग की

news

कोलकाता, 22 मई (हि.स.)। भारतीय जनता पार्टी ने आरोप लगाया है कि केन्द्र सरकार की प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में शामिल पश्चिम बंगाल के किसान वास्तविक नहीं हैं बल्कि सत्तारूढ़ पार्टी से जुड़े लोग हैं। ऐसे लोगों का लाभ मिलना एक तरह से भ्रष्टाचार होगा। भाजपा ने बंगाल में किसान सम्मान निधि योजना पर तत्काल रोक लगाने की मांग की है। इस संबंध में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने प्रधानमंत्री मोदी को एक पत्र लिखा है। इस पत्र में उन्होंने कहा है कि किसान सम्मान निधि योजना के लाभांवित किसानों की वास्तविक सूची तैयार करने के लिए केंद्र को मंत्रिमंडल की एक टीम भेजनी चाहिए। पत्र में घोष ने कहा है कि केंद्रीय किसान सम्मान निधि का लाभ लेने के लिए राज्य के 23 लाख किसानों ने पोर्टल पर आवेदन किया था, लेकिन केवल सात लाख लोगों को इसका लाभ मिला है। राज्य सरकार ने सभी किसानों को सूचीबद्ध नहीं किया। उन्होंने दावा किया कि जिन किसानों को सूचीबद्ध किया गया है, उनसे कट मनी ली जाएगी। कांग्रेस ने भी किया जांच की मांग का समर्थन इस संबंध में प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रदीप भट्टाचार्य ने दिलीप घोष के पत्र को लेकर आपत्ति जाहिर की है। शनिवार को भट्टाचार्य ने हिन्दुस्थान समाचार को बताया कि किसानों को मिल रही आर्थिक मदद को बंद कराने का दिलीप घोष का आवेदन आपत्तिजनक है। धनराशि के वितरण में भ्रष्टाचार हो रहा है या नहीं, इसकी जांच के लिए आवेदन किया जा सकती है, लेकिन इसे बंद करने की कोई युक्ति नहीं है। अब्दुल मन्नान ने भी कहा कि भ्रष्टाचार हो सकता है, यह संदेह कर किसान सम्मान निधि की राशि रोकना गलत होगा। भाजपा को अगर इसका संदेह है तो इसकी जांच की जा सकती है लेकिन किसानों को मिलने वाली मदद बंद नहीं होनी चाहिए। हिन्दुस्थान समाचार / ओम प्रकाश