सीतलकुची की घटना पर राहुल सिन्हा का विवादित बयान, कहा : आठ लोगों को मारनी चाहिए थी गोली

सीतलकुची की घटना पर  राहुल सिन्हा  का  विवादित बयान, कहा : आठ लोगों को मारनी चाहिए थी गोली
rahul-sinha39s-controversial-statement-on-sitalakuchi-incident-said-eight-people-should-have-been-shot

कोलकाता, 12 अप्रैल(हि.स.)। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष के बाद अब पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष राहुल सिन्हा ने विवादित बयान दिया है। राहुल सिन्हा ने कहा है कि, 'सीतलकुची मेंचार लोग नहीं बल्कि आठ लोगों की गोली मारनी चाहिए थी।' राहुल सिन्हा सोमवार को अपने निर्वाचन क्षेत्र उत्तर 24 परगना के हाबरा में एक रैली को संबोधित कर रहे थे। सिन्हा ने रैली में जनता को संबोधित करते हुए सीतलकुची की घटना पर कहा कि 'वोटिंग लाइन में खड़े एक लड़के को सिर्फ इसलिए गोली मार दी गयी क्योंकि वह भाजपा करता था। ममता बनर्जी उन लोगों की नेता हैं जो केंद्रीय बलों पर बम फेंक रहे हैं और लोगों को मतदान करने से रोक रहे हैं। वास्तव में, ममता बनर्जी के दिन खत्म हो गए हैं। उनके गुंडे अपनी शक्ति का गलत इस्तेमाल कर आम लोगों को लोकतांत्रिक अधिकारों से वंचित करने की कोशिश कर रही है। राहुल सिन्हा ने कहा, 'आपने सीतलकुची में देखा है कि झमेला करने पर क्या हो सकता है। केंद्रीय बलों ने उचित जवाब दिया है। यदि फिर ऐसा किया जाता है तो इसका भी ऐसे ही जवाब मिलेगा। सितलकुची में, चार लोगों की नहीं बल्कि आठ लोगों की गोली मारकर हत्या की जानी चाहिए थी। उल्लेखनीय है कि इससे पहले सीतलकुची की घटना को लेकर दिलीप घोष ने कहा था कि भय दिखाकर राजनीति करने के दिन लद गये हैं। डर की उपेक्षा कर लोग वोट दे रहे हैं। 17 तारीख की सुबह भी कतार में खड़े रहकर वोट दें, बूथ में केंद्रीय वाहिनी रहेगी। कोई लाल आंखे नहीं दिखा सकता है, हम हैं। अगर किसी ने ज्यादा उछल कूद की तो सीतलकुची में देखा ना क्या हुआ। जगह-जगह सीतलकुची होगा। हिन्दुस्थान समाचार/सुगंधी/मधुप