फर्जी आईएए के साथ तृणमूल नेताओं व मंत्री की तस्वीरें, देबश्री ने साधा निशाना

फर्जी आईएए के साथ तृणमूल नेताओं व मंत्री की तस्वीरें, देबश्री ने साधा निशाना
photos-of-trinamool-leaders-and-ministers-with-fake-iaa-debashree-targeted

कोलकाता, 24 जून (हि.स.)। कोलकाता में कोरोना टीकाकरण कैंप आयोजित करने वाले फर्जी आईएएस अधिकारी देवांजन देव का मामला अब राजनीतिक तूल पकड़ता जा रहा है। गिरफ्तार देवांजन के साथ ममता बनर्जी के मंत्री और तृणमूल नेताओं की तस्वीरें सामने आई हैं। इसे लेकर केंद्रीय राज्य मंत्री देबश्री चौधरी ने आरोप लगाते हुए कहा कि बिना सत्ता की मदद से यह कैसे संभव हो सकता है? देबश्री चौधरी ने कहा कि यह चिंता का विषय है। कोलकाता में वैक्सीन को लेकर इतना बड़ा घोटाला हो रहा है। सांसद खुद उस कैंप में जाती हैं। उसकी तृणमूल के मंत्री और नेताओं के साथ तस्वीरें हैं। इनके पीछे कौन है? हिम्मत देने वाला कौन है? ऐसा लग रहा है कि उनका कुछ लोगों के साथ करीबी और पुराना संबंध था। उसने सात वैक्सीनेशन कैंप लगाए थे और किसी को पता ही नहीं था। यह बंगाल में ही संभव है। इतने लोगों के साथ अन्याय किया है। स्वास्थ्य मंत्री को जवाब भी देना होगा। उल्लेखनीय है कि इस मामले की जांच कोलकाता पुलिस के खुफिया विभाग ने शुरू कर दी है। इस कैंप में खुद तृणमूल की सांसद और अभिनेत्री मिमी चक्रवर्ती ने भी वैक्सीन ली थी। उनकी शिकायत के बाद पुलिस ने फर्जी आईएएस अधिकारी को गिरफ्तार किया है। फर्जी आईएएस अधिकारी देवांजन के ट्वीटर अकाउंट में उसकी तृणमूल के कई मंत्रियों और नेताओं के साथ तस्वीरें हैं। इनमें मंत्री फिरहाद हकीम, मंत्री सुब्रत मुखर्जी से लेकर सांसद डॉ शांतनु सेन आदि शामिल हैं। हालांकि तृणमूल के वरिष्ठ नेताओं का कहना है कि ये तस्वीरें कार्यक्रमों के दौरान ली गई हैं। कार्यक्रम में विभिन्न तरह के लोग रहते हैं। इस व्यक्ति के बारे में उनके पास कोई जानकारी नहीं हैं और न ही वे इनको जानते ही हैं। हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश/सुगंधी