शख्स ने पेश की इंसानियत की मिसाल: पीएफ के रुपये से कोरोना मरीजों के लिए खोला अस्पताल

शख्स ने पेश की इंसानियत की मिसाल: पीएफ के रुपये से कोरोना मरीजों के लिए खोला अस्पताल
person-sets-the-example-of-humanity-opened-hospital-for-corona-patients-with-pf-rupees

कोलकाता, 13 मई (हि.स.)। आज जब पूरे देश में कोरोना ने मौत का मातम फैला रखा है और लोग दवाइयों की जमाखोरी और प्राइवेट अस्पतालों की लूट-खसोट की हैवानियत से जकड़े हुए हैं। इस बीच कोलकाता के एक शख्स ने इंसानियत की मिसाल पेश की है। कमालगाज़ी के रहने वाले जाकिर हुसैन ने घर में एक छोटा सा अस्पताल खोला है। वह भी अपने पीएफ के रुपये से। यहां कोरोना से संक्रमित मरीजों को रखकर इलाज किया जा रहा है। अस्पतालों पर कोरोना के मरीजों के बढ़ते दबाव को देखते हुए उन्होंने अपने घर पर छोटा सा चिकित्सकीय सुविधा केंद्र खोला है। जाहिर हुसैन ने कहा- 'अस्पतालों पर दबाव बढ़ रहा है। वहां बेड नहीं मिल रहे। कोरोना के मरीजों को लौटा दिया जा रहा है इसलिए मैंने अपने स्तर पर यह व्यवस्था की है ताकि मरीजों व उनके परिजनों को थोड़ी राहत दी जा सके।" जाहिर हुसैन के चिकित्सकीय सुविधा केंद्र में विभिन्न प्रकार की दवाइयां, ऑक्सीमीटर नेबुलाइजर, शुगर व ब्लड टेस्ट, ऑक्सीजन सिलेंडर इत्यादि की व्यवस्था है। साथ ही वे मरीजों को टेलीमेडिसिन सेवाएं भी उपलब्ध करा रहे हैं। इसमें कई डॉक्टर उनका सहयोग कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि जाहिर हुसैन स्वास्थ्य को लेकर बेहद सजग रहते हैं और पिछले तीन वर्षों से अपने इलाके के लोगों को भी इस बाबत जागरूक करते आ रहे हैं। अपने स्तर पर भी लोगों की चिकित्सा के मामले में मदद भी करते हैं। वह बहुराष्ट्रीय कंपनी में काम करते हैं। उनका कहना है कि लोगों की सेवा करने में जो खुशी मिलती है, उसे शब्दों में बयां कर पाना मुश्किल है। हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश/सुगंधी

अन्य खबरें

No stories found.