mamta-government-gave-job-to-cpi-m-worker-moidul39s-wife-killed-during-secretariat-siege
mamta-government-gave-job-to-cpi-m-worker-moidul39s-wife-killed-during-secretariat-siege
पश्चिम-बंगाल

सचिवालय घेराव के दौरान मारे गए माकपा कार्यकर्ता मोईदुल की पत्नी को ममता सरकार ने दी नौकरी

news

कोलकाता, 19 फरवरी (हि.स.)। गत 11 फरवरी को "सचिवालय चलो" अभियान के दौरान पुलिस लाठीचार्ज में घायल होने के बाद दम तोड़ने वाले माकपा छात्र संगठन डीवाईएफआई नेता मोईदुल इस्लाम की पत्नी को ममता बनर्जी की सरकार ने नौकरी दे दी है। उन्हें होमगार्ड की नौकरी दी गई है। मूल रूप से बांकुड़ा जिले के रहने वाले मोईदुल की पत्नी ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा दिए गए नौकरी के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया था। शुक्रवार को बांकुड़ा के जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक को साथ लेकर राज्य के पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री श्यामल सातरा मोईदुल के घर गए। उन्होंने उनकी पत्नी के हाथ में राज्य पुलिस होमगार्ड में नौकरी का नियुक्ति पत्र सौंपा। उल्लेखनीय है कि मोईदुल अपने परिवार के वह एक मात्र कमाने वाले सदस्य थे और ऑटो चलाकर गुजारा करते थे। उनकी दो बेटियां और एक भगिनी हैं जिनके पठन-पाठन की जिम्मेवारी मोईदुल पर ही थी। इसके अलावा मां और पत्नी का खर्च भी वह चलाते थे। उनकी मौत के बाद मुख्यमंत्री ने माकपा विधायक दल के नेता सुजन चक्रवर्ती से बात की थी और मृतक के परिवार में से किसी एक व्यक्ति को नौकरी देने का प्रस्ताव दिया था। राज्य सरकार ने उन्हें होमगार्ड की नौकरी दे दी है। फिलहाल कोतुलपुर थाने में ही उनकी तैनाती है। हिन्दुस्थान समाचार /ओम प्रकाश/गंगा