नकली टीकाकरण मामले से ममता ने जोड़ा भाजपा का नाम, केंद्र पर भी बोला हमला

नकली टीकाकरण मामले से ममता ने जोड़ा भाजपा का नाम, केंद्र पर भी बोला हमला
mamta-added-the-name-of-bjp-to-the-fake-vaccination-case-also-attacked-the-center

कोलकाता, 30 जून (हि. स.)। महानगर कोलकाता में अवैध तरीके से टीकाकरण कैंप आयोजित करने वाले फर्जी आईएएस अधिकारी देवांजन देव के साथ तृणमूल कांग्रेस के नेताओं, मंत्रियों और अन्य लोगों की तस्वीरें लगातार वायरल होने पर भाजपा हमलावर है। अब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस कांड से भाजपा को जोड़ना शुरू कर दिया है। उन्होंने दावा किया है कि देवांजन मामले में अवैध टीकाकरण कैंप आयोजित करने में भाजपा की भी भूमिका रही है। बुधवार को राज्य सचिवालय में मीडिया से वार्ता के दौरान मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार पर हमला बोला। उन्होंने आरोप लगाया कि बंगाल को वैक्सीन की आपूर्ति में केन्द्र ने भेदभाव किया। उन्होंने कहा कि छोटे राज्यों से भी बंगाल को कम वैक्सीन दी गई है। फर्जी वैक्सीनेशन कैंप में भाजपा की भूमिका पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि यह अपनी तरह का अलग मामला है। इसकी जांच चल रही है। उन्होंने संदेह व्यक्त करते हुए कहा कि कहीं इस मामले में भाजपा की साजिश तो नहीं है। ममता बनर्जी ने कहा कि हमें वैक्सीन की 1.99 करोड़ खुराक मिली हैं और अब तक हम 1.90 करोड़ खुराकें दे चुके हैं। आज हमारे पास वैक्सीन नहीं हैं, इसलिए हम कोलकाता में केवल दूसरी खुराक ही दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल से छोटे राज्यों को हमसे ज्यादा वैक्सीन की खुराक दी गई है। उन्होंने सवाल किया कि उत्तर प्रदेश को साढ़े तीन करोड़ वैक्सीन की खुराक मिली, तो बंगाल को इतनी कम क्यों मिली ? राज्य सरकार के खर्चे से 59 करोड़ रुपये खर्च कर 18 लाख खुराक खरीदी गई है। पश्चिम बंगाल को वैक्सीन मामले में कई जगह से सराहना भी मिली है। हाथरस और दिल्ली की घटनाओं पर नहीं हुई कार्रवाई फर्जी वैक्सीन कांड पर टिप्पणी करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि यह पूरी तरह से अलग मामला है और इसके खिलाफ कार्रवाई की गई है। उन्होंने कहा कि वे बात तो बहुत करते हैं लेकिन जब फेक वीडियो की बात आती है तो आप एक्शन क्यों नहीं लेते? गंगा में शव तैर रहे हैं। आज भी मानिकचक में शव पहुंचा है। हाथरस के बाद से दिल्ली की घटना में कई लोग मारे गए हैं और कोई जांच नहीं की गई है, लेकिन बंगाल की घटना को लेकर तुरंत ही रिपोर्ट तलब कर दी जाती है। उन्होंने कहा कि मैंने पूछा कि क्या वैक्सीन दी गई है। लोगों को कोरोना वैक्सीन नहीं दी गई है। यह एक एंटीबायोटिक टीका है, जिन लोगों ने इस प्रकार का टीका लगाया है उनका टीकाकरण राज्य सरकार द्वारा कराया जाएगा। बंगाल को बदनाम करने की हो रही है साजिश ममता बनर्जी ने कहा कि भाजपा के कुछ लोग फर्जी वैक्सीन घोटाले में शामिल हैं। सारी जानकारी समय पर सामने आ जाएगी। ममता ने स्पष्ट किया कि इस घटना में राज्य सरकार की कोई भूमिका नहीं है। शिकायत आते ही राज्य सरकार ने कदम उठाया है। ऐसा कदम उठाने की किसी की हिम्मत कभी नहीं हुई और यहां एक साजिश की बात कही जा रही है। केंद्र सरकार के निर्देशन में कुछ एजेंसियों के साथ लोगों को मिलाकर बंगाल को बदनाम किया जा रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश/गंगा

अन्य खबरें

No stories found.