पश्चिम-बंगाल

जेयू के चौंथे कैम्पस के लिये न्यूटाउन में मिली जमीन

news

कोलकाता, 13 जनवरी (हि.स.)। जादवपुर विश्वविद्यालय (जेयू) के चौंथे कैम्पस के लिए न्यूटाउन में राज्य सरकार द्वारा आवंटित जमीन विश्वविद्यालय प्रशासन को सौंप दिया गया है। जादवपुर विश्वविद्यालय के मुख्य परिसर के अतिरिक्त सॉल्टलेक में दूसरा परिसर और नेशनल इंस्ट्रुमेंट्स लिमिटेड की इमारत में तीसरा परिसर स्थित है। पांच एकड़ जमीन पर तैयार हो रहे इस चौंथे परिसर में लैब के साथ-साथ कन्वेंशन सेंटर भी तैयार किया जाएगा। इस परिसर को तैयार करने के लिए एक कमेटी का भी गठन किया गया था। हालांकि अभी तक नये परिसर का उद्धाटन होने की तिथि निश्चित नहीं हुई है। जेयू के एक अधिकारी ने बताया कि मुख्य परिसर और सॉल्टलेक परिसर में स्थित कई प्रमुख विभागों ने स्थान की कमी होने के बावजूद न्यू टाउन परिसर में जाने से इनकार कर दिया है। शुरुआत में यहां बायोटेक्नोलॉजी हब तैयार करने की योजना बनी थी किन्तु जेयू के पास इसके अतिरिक्त कुछ अन्य योजनाएं भी थी, जिन्हें राज्य सरकार के पास मंजूरी के लििये भेजा गया है। बाद में फंड आवंटित की जाएगी। विश्वविद्यालय के एक अध्यापक ने बताया कि जेयू में हमेशा से ही काफी अधिक संख्या में विदेशी विद्यार्थी और प्लेसमेंट के लिए राष्ट्रीय उद्योग आते हैं। स्पेशल सेशन के लिए कॉरपोरेट सेक्टर के कई अथिति मुख्य परिसर में ही आते हैं। इन सभी सुविधाओं को एक ही छत के नीचे लाया जा सकता है। जेयू सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस चौंथे परिसर में बायो-साइंस, मैनेजमेंट साइंस और लॉ के लिए सेंटर फॉर एक्सीलेंस तैयार किया जा सकता है। जेयू के कुलपति प्रो. सुरंजन दास का कहना है कि हमें जमीन सौंप दी गयी है। जेयू राज्य सरकार का आभारी है कि उसे यह जमीन आवंटित की गयी है। हम उस फंड का इंतजार कर रहे हैं जो जेयू को केन्द्र सरकार द्वारा सेंटर फॉर एक्सीलेंस चुने जाने के बाद प्रदान किया जाएगा। हमने राज्य सरकार के पास योजनाओं को जमा कर दिया है जो 100 करोड़ रूपये आवंटित होने के बाद तैयार की गयी थी। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी न्यू टाउन-राजारहाट इलाके को एडुकेशन हब के तौर पर विकसित करना चाहती है। इसलिए उन्होंने वर्ष 2018 में कलकत्ता विश्वविद्यालय और जादवपुर विश्वविद्यालय के लिए दो जमीन आवंटित किया था। हिन्दुस्थान समाचार / ओम प्रकाश/मधुप-hindusthansamachar.in