नारद स्टिंग ऑपरेशन मामले में गिरफ्तारी के बाद सीबीआई दफ्तर के बाहर तृणमूल कार्यकर्ताओं के तांडव पर राज्यपाल ने जताई चिंता

नारद स्टिंग ऑपरेशन मामले में गिरफ्तारी के बाद सीबीआई दफ्तर के बाहर तृणमूल कार्यकर्ताओं के तांडव पर राज्यपाल ने जताई चिंता
governor-expressed-concern-over-the-orgy-of-trinamool-workers-outside-cbi-office-after-arrest-in-narada-sting-operation-case

कोलकाता, 17 मई (हि.स.)। पश्चिम बंगाल के बहुचर्चित नारद स्टिंग ऑपरेशन हमले में ममता कैबिनेट के मंत्री फिरहाद हकीम, सुब्रत मुखर्जी, विधायक मदन मित्रा और पूर्व मंत्री शोभन चटर्जी की गिरफ्तारी के बाद सीबीआई दफ्तर के बाहर तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के तांडव को लेकर राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने चिंता व्यक्त की है। सोमवार सुबह सीबीआई ने इन सभी नेताओं के घर जाकर सेंट्रल फोर्स की मदद से इन सभी की गिरफ्तारी की है। उसके बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी निजाम पैलेस स्थित सीबीआई के दफ्तर में आकर धरना दे रही हैं जिसमें उन्हें गिरफ्तारी के बाद रखा गया है। इधर राज्य में टोटल लॉकडाउन के बावजूद सैकड़ों की संख्या में तृणमूल कार्यकर्ता सीबीआई दफ्तर के बाहर पहुंच गए हैं और पूरे ऑफिस को घेर लिया गया है। जबरदस्त विरोध प्रदर्शन हो रहा है और आरोप लगाए जा रहे हैं कि गैरकानूनी तरीके से नेताओं की गिरफ्तारी हुई है। सेंट्रल फोर्स के जवान सीबीआई दफ्तर की सुरक्षा कर रहे हैं और बाहर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी तथा तृणमूल के कार्यकर्ता विरोध प्रदर्शन और हाथापाई जैसे माहौल बना चुके हैं। इसे लेकर चिंता जाहिर करते हुए राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने ट्वीटर लिखा है कि जिस तरह की स्थिति है वह चिंताजनक है। मैं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से अपील करता हूं कि संवैधानिक मानदंडों का पालन करें और राज्य प्रशासन कानून के अनुसार काम करें। अपने ट्वीट में बंगाल पुलिस, कोलकाता पुलिस और राज्य के गृह विभाग को टैग करते हुए राज्यपाल ने कहा है कि कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जाने चाहिए। उन्होंने पुलिस की लापरवाही को लेकर भी सवाल खड़ा किया और कहा कि दुखद है कि अधिकारियों द्वारा कोई ठोस कार्रवाई नहीं होने के कारण स्थिति लगातार बिगड़ रही है। हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश/गंगा