फिरहाद हकीम ने बेहला में जलजमाव के लिए सीपीएम दफ्तर को बताया जिम्मेदार, हटाने का फरमान

फिरहाद हकीम ने बेहला में जलजमाव के लिए सीपीएम दफ्तर को बताया जिम्मेदार, हटाने का फरमान
firhad-hakim-told-cpm-office-responsible-for-water-logging-in-behala-order-to-remove

कोलकाता, 23 जून (हि.स.)। कोलकाता नगर निगम के प्रशासक फिरहाद हकीम ने बुधवार को महेशतला, बेहला और अन्य इलाकों का दौरा किया। इस दौरान बेहला इलाके में लगातार बारिश के बाद जलभराव को परिवहन मंत्री हकीम ने कहा कि बेहला इलाके में मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के दफ्तर की वजह से जल निकासी में समस्या हो रही है, इसे तत्काल हटाया जाएगा। हकीम ने यहां बेहला और महेशतला की जल निकासी व्यवस्था को बनाए रखने के लिए गार्डेनरिच पंपिंग स्टेशन के इंजीनियरों के साथ बैठक की। बैठक में महेशतला विधायक दुलाल दास और कलकत्ता निगम के अधिकारी तारक सिंह भी मौजूद थे। बैठक के बाद फिरहाद हकीम अखरा संतोषपुर थाने से सटी पुलिया का निरीक्षण किया। उनके साथ रेलवे के अधिकारी भी मौजूद थे। हाकिम ने कहा कि उन्होंने दो साल पहले रेलवे को इस पुलिया को ऊपर उठाने के लिए कहा था। क्योंकि बेहला महेशतला न्यू अलीपुर का जमा हुआ पानी इसी पुलिया के तल से नहर में जाता है। लेकिन इस पुलिया को ऊपर उठाने में माकपा पार्टी कार्यालय आड़े आ रही है। हकीम माकपा पार्टी के कार्यालय के आसपास का भी निरीक्षण किया। कार्यालय में माकपा के लोगों से बात भी की। वे माकपा पार्टी कार्यालय को हटाने पर राजी हो गए हैं। यदि इस कार्यालय को हटा दिया जाता है, तो रेलवे की पुलिया उठाकर जलभराव की समस्या का समाधान किया जाएगा। बेहला में भारी जलजमाव पर फिरहाद ने कहा, 'हजारों कोशिशों के बाद भी कुछ क्षेत्रों में पानी नहीं उतरा। मैं पहले ही बेहाला के लोगों से पानी जमा होने के लिए माफी मांग चुका हूं। मैंने केआईपी को समय दिया है। उन्होंने राज्य के पूर्व सिंचाई मंत्री तथा वर्तमान भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी और राजीव बनर्जी का नाम लिए बगैर एक बार फिर निशाना साधा और कहा कि तीन साल तक मंत्री को बताने के बावजूद कुछ नहीं हुआ। हिन्दुस्थान समाचार / ओम प्रकाश/

अन्य खबरें

No stories found.