कलकत्ता नगरपालिका के मुख्य प्रशासक बने फिरहाद हाकिम

कलकत्ता नगरपालिका के मुख्य प्रशासक बने फिरहाद हाकिम
firhad-hakim-became-the-chief-administrator-of-the-calcutta-municipality

कोलकाता, 04 मई (हि. स.)। विधानसभा चुनाव के नतीजे रविवार को ही घोषित हुए है। एक बार फिर से तृणमूल सत्ता में है। चुनाव खत्म होते ही एक बार फिर फिरहाद हकीम कलकत्ता नगरपालिका के मुख्य प्रशासक का जिम्मेदारी सौंपी गई है। मंगलवार को मुख्य सचिव अलपन बनर्जी ने राज्य की ओर से एक निर्देश जारी किया है। जिसमें कहा गया है कि मुख्य प्रशासक की जिम्मेदारी एक बार फिर से फिरहाद हकीम को सौंपी जा रही है। इसके अलावा प्रशासनिक पदों जो लोग आसीन थे उन्हें पुरानी जिम्मेदारियों को वापस दिया सौपा जाएगा। कोरोना स्थिति में, राज्य में कई नगर पालिकाओं और नगर निगम के लिए चुनाव समय पर नहीं हो सके। जिसके कारण पूर्व बोर्ड के सदस्यों का कार्यकाल समाप्त हो गया था। लेकिन नागरिक सेवाएं बाधित न हों। यह सुनिश्चित करने के लिए राज्य सरकार ने नगरपालिका के काम के प्रबंधन के लिए अस्थायी रूप में एक प्रशासन मण्डली बनाने का फैसला लिया गया था। पूर्व मेयर या महापौर को उस प्रशासन के प्रमुख पद पर रखा गया। उल्लेखनीय है कि फिरहाद हकीम कलकत्ता नगरपालिका के मुख्य प्रशासक थे। लेकिन चुनाव से पहले, भाजपा ने आयोग से शिकायत की थी कि आचार संहिता लागू होने के बाद भी, नगरपालिका प्रशासक विभिन्न तरीकों से मतदाताओं को प्रभावित करने की कोशिश कर रही है। मतदान के लिए नगरपालिकाओं का उपयोग किया जा रहा है। इस आरोप के बाद, आयोग ने राजनीतिक व्यक्तियों को नगरपालिका पद से हटने को कहा था। जिसके बाद फिरहाद हाकिम और प्रशासक मंडली के सदस्य अतीन घोष और देबाशीष कुमार ने निर्देश का पालन करते हुए इस्तीफा दे दिया था। लेकिन चुनाव खत्म होते ही फिरहाद, अतीन, देबाशीष कुमार और प्रशासन के सभी सदस्य दायित्व बहाल किया गया है। इसी तरह, जो 141 नम्बर वार्डों के संयोजक के पद पर थे, उन्हें उनकी जिम्मेदारियां वापस दी जा रही हैं। केवल तृणमूल कांग्रेस नही, बल्कि माकपा, भाजपा और पार्टी के सभी संयोजक को उनके पद पर फिर से बहाल किया जा रहा है। राज्य की तरफ से निर्देशिका मिलने के बाद मंगलवार को फिरहाद हकीम नगरपालिका जा रहे हैं। आज प्रशासन के सदस्यों के साथ बैठक भी करेंगे। उन्होंने कहा कि ममता दीदी ने कहा है कि हमें लोगों के लिए कोरोना स्थिति में काम करना होगा। इसलिए बिना देर किए काम जुट गए हैं। हिन्दुस्थान समाचार/सुगंधी/गंगा