निजी अस्पतालों को बंगाल सरकार ने लिखा पत्र, उपलब्ध नहीं करा सकेगी वैक्सीन

निजी अस्पतालों को बंगाल सरकार ने लिखा पत्र, उपलब्ध नहीं करा सकेगी वैक्सीन
bengal-government39s-written-letter-to-private-hospitals-will-not-be-able-to-provide-vaccine

कोलकाता, 07 मई (हि.स.)। पश्चिम बंगाल के सभी निजी अस्पतालों में अब टीकाकरण की प्रक्रिया बंद हो सकती है। इस संबंध में राज्य स्वास्थ्य विभाग ने सभी निजी अस्पतालों के प्रबंधकों को पत्र लिखा है। पत्र में सरकार ने साफ किया है कि जिन लोगों को पहला टीका निजी अस्पतालों में लगा है, वे अगर दूसरे डोज के लिए वहां पहुंचते हैं तो अस्पताल प्रबंधन उन्हें सरकारी अस्पतालों में भेज दें। शुक्रवार को राज्य सरकार ने जो पत्र निजी अस्पतालों के प्रबंधन को लिखा है, उसमें केंद्र सरकार की टीकाकरण नीति का उल्लेख किया गया है। इस समय पश्चिम बंगाल में 145 जगहों पर सरकारी तौर पर टीकाकरण की प्रक्रिया चल रही है। कुछ दिन पहले ही राज्य सरकार ने निजी अस्पतालों में टीकाकरण को लेकर नई गाइडलाइन जारी की थी। इसमें कहा गया था कि 30 अप्रैल के बाद अगर निजी अस्पताल टीकाकरण करना चाहते हैं तो उन्हें सीधे टीका उत्पादनकारी संस्था से खरीदनी होगी। इसके अलावा दो चरणों के टीकाकरण के लिए जो वैक्सीन राज्य सरकार ने अस्पतालों को उपलब्ध कराई थी, उसे 01 मई से पहले जमा करने का निर्देश भी दिया गया था। 02 मई से तीसरे चरण का टीकाकरण पूरे देश में शुरू हुआ है लेकिन पश्चिम बंगाल में निजी अस्पतालों में फिलहाल टीकाकरण बंद है। अब बंगाल सरकार ने जो पत्र लिखा है, उसमें साफ कर दिया है कि उनके पास वैक्सिंग की उपलब्धता नहीं है और कई अन्य वित्तीय वजहों से निजी अस्पतालों को वैक्सीन उपलब्ध नहीं कराई जा सकेगी। हिन्दुस्थान समाचार / ओम प्रकाश