Ability to win more than 50 seats in the state: Abbas Siddiqui
Ability to win more than 50 seats in the state: Abbas Siddiqui
पश्चिम-बंगाल

राज्य में 50 से अधिक सीटों पर जीत दर्ज करने की क्षमता : अब्बास सिद्दीकी

news

कोलकाता, 14 जनवरी (हि. स.)। एआईएमआईएम के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी ने हुगली जिले के फुरफुरा शरीफ मजार के पीरजादे अब्बास सिद्दीकी से गठबंधन की घोषणा की है। उसी अब्बास ने गुरुवार को तृणमूल कांग्रेस को चेतावनी देते हुए कहा है कि उनका जनाधार राज्य में ढाई करोड़ से अधिक मुस्लिम मतदाताओं का है। इसके जरिए वह राज्य के 50 से अधिक विधानसभा सीटों पर जीत दर्ज करने में सक्षम हैं। अब्बास और ओवैसी पर भाजपा की मदद के लग रहे आरोपों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी ही वह पहली नेता हैं जिन्होंने पश्चिम बंगाल में भाजपा को एंट्री दी थी। उन्हीं का हाथ पकड़कर राजनीति में खड़ी हुई थीं। उन्होंने कहा कि वह किसके साथ गठबंधन करेंगे और किसके साथ नहीं करेंगे यह उनका व्यक्तिगत अधिकार है, इसे कोई नहीं छीन सकता। अब्बास ने कहा कि उन्हें ओवैसी से गठबंधन का ऑफर मिला है और समय पर वह अपना फैसला बताएंगे। उत्तर 24 परगना जिले में एक मजहबी जनसभा को संबोधित करने के बाद मीडिया से मुखातिब अब्बास ने कहा कि फुरफुरा शरीफ के अनुयायियों की संख्या ढाई करोड़ है। इनमें से 70 फ़ीसदी लोग राजनीति में उनके प्रवेश का समर्थन कर चुके हैं। इसलिए तृणमूल कांग्रेस डर रही है। उन्होंने कहा कि जब बंगाल में भाजपा को ममता ने एंट्री देने की कोशिश की थी तब वह इसके खिलाफ खड़े हुए थे और रोका था। अब्बास ने यह भी दावा किया कि नंदीग्राम आंदोलन के बाद से ही एआईएमआईएम के साथ ममता बनर्जी के संपर्क प्रगाढ़ रहे हैं। लेकिन समय के साथ उन्होंने मुस्लिमों के लिए कुछ नहीं किया। इसलिए अब राजनीति में उनकी एंट्री जरूरी है। एक दिन पहले राज्य के पुस्तकालय मंत्री सिद्दीकुल्ला चौधरी द्वारा वैक्सीन की राह रोक कर किसान बिल का विरोध करने से संबंधित सवाल के जवाब में कहा कि चौधरी नाटक कर रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश/गंगा-hindusthansamachar.in