हाईकोर्ट का आदेश : पुलिस हिरासत में मारे गए भाजपा कार्यकर्ता के शव का होगा दोबारा पोस्टमार्टम
हाईकोर्ट का आदेश : पुलिस हिरासत में मारे गए भाजपा कार्यकर्ता के शव का होगा दोबारा पोस्टमार्टम
पश्चिम-बंगाल

हाईकोर्ट का आदेश : पुलिस हिरासत में मारे गए भाजपा कार्यकर्ता के शव का होगा दोबारा पोस्टमार्टम

news

कोलकाता, 16 अक्टूबर (हि. स.)। पूर्व मेदिनीपुर जिले के पटासपुर के भाजपा कार्यकर्ता मदन घोराई की पुलिस हिरासत में संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत के मामले में राज्य सरकार को कलकत्ता हाईकोर्ट से झटका लगा है। गुरुवार रात थाने में ही मदन की मौत हो गई थी। इसे लेकर शुक्रवार को भाजपा ने उच्च न्यायालय को चिट्ठी लिखकर घटना की सीबीआई और एनआईए जांच की मांग की थी। इस पर सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति राजशेखर महंथा की एकल पीठ ने शव का दोबारा पोस्टमार्टम का आदेश दिया है। न्यायाधीश ने अपने आदेश में स्पष्ट किया है कि मदन घोराई के शव का पोस्टमार्टम एसएसकेएम अस्पताल में नहीं होगा बल्कि आरजीकर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में होगा। विभाग के प्रधान चिकित्सक को पोस्टमार्टम का आदेश दिया गया है। इसकी पूरी वीडियो रिकॉर्डिंग की जाएगी जो न्यायालय में जमा करानी होगी। 21 अक्टूबर को अदालत में रिपोर्ट की प्रति जमा करनी होगी। उल्लेखनीय है कि मदन घोराई को गुरुवार रात पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। भाजपा का आरोप है कि झूठे मामले में फंसाकर उन्हें गिरफ्तार किया गया था और थाने में इतनी बेरहमी से पीटा गया कि उनकी मौत हो गई। साक्ष्यों को मिटाने के लिए पुलिस ने परिजनों को बिना बताए उनके शव को कोलकाता के एसएसकेएम अस्पताल में लाकर भर्ती कर दिया था। पुलिस की ओर से दावा किया जा रहा है कि थाने में तबीयत खराब होने की वजह से मदन की मौत हुई है। इधर शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी ने मदन घोराई के शव को अपने प्रदेश मुख्यालय में लाकर रखा था और हाईकोर्ट को चिट्ठी लिखकर घटना की सीबीआई जांच और दोबारा पोस्टमार्टम की मांग की थी। उसी के मुताबिक न्यायमूर्ति राज शेखर महंथा ने एसएसकेएम अस्पताल के बजाए आरजीकर में दोबारा पोस्टमार्टम का आदेश दिया है। माना जा रहा है कि इससे राज्य सरकार की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। दरअसल विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे करीब आता जा रहा है, राज्य में भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट और हिंसा की घटनाएं बढ़ गई हैं। भाजपा का दावा है कि अब तक पार्टी के 130 से अधिक कार्यकर्ताओं को मौत के घाट उतार दिया गया है। एक दिन पहले तो प्रदेश प्रभारी और राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने दावा किया था कि भाजपा कार्यकर्ताओं और नेताओं को मौत के घाट उतारने के लिए ममता बनर्जी की सरकार के संरक्षण में बांग्लादेश से शार्प शूटर लाए जा रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश/गंगा-hindusthansamachar.in