स्कूल खोलने को लेकर बंगाल और केंद्र सरकार में तनातनी

स्कूल खोलने को लेकर बंगाल और केंद्र सरकार में तनातनी
स्कूल खोलने को लेकर बंगाल और केंद्र सरकार में तनातनी

कोलकाता, 17 सितम्बर (हि.स.)। महामारी कोरोना के बीच भी विभिन्न मुद्दों को लेकर केंद्र और राज्य सरकार के बीच तनातनी बरकरार है। अब स्कूल खोलने को लेकर दोनों ही सरकारें आमने-सामने आ गई हैं। अनलॉक- 4.0 के तहत केंद्र सरकार ने 21 सितम्बर से कक्षा नौवीं से बारहवीं तक के छात्रों के लिए स्कूल खोलने की सशर्त अनुमति दी है, लेकिन राज्य सरकार ने केंद्र का निर्देश मानने से इनकार कर दिया है। बंगाल के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने साफ कह दिया है कि जिस दर से कोरोना का ग्राफ बढ़ रहा है, सितम्बर में राज्य में स्कूल खोलना संभव नहीं है। पार्थ चटर्जी के मुताबिक राज्य सरकार सभी शिक्षण संस्थानों को 30 सितम्बर तक बंद रखने की पहले ही घोषणा कर चुकी है। इसके बाद अब केंद्र का नया दिशा-निर्देश आया है, लेकिन जिस रफ्तार से कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है तो इस स्थिति में स्कूल कैसे खुलेंगे?' उन्होंने कहा कि हम बच्चों के स्वास्थ्य के बारे में अधिक चिंतित हैं और उनके जीवन को खतरे में डालना नहीं चाहते हैं। इसलिए परिस्थिति सामान्य होने पर ही स्कूल कॉलेज खुलेंगे। इधर खबर है कि केंद्र सरकार ममता बनर्जी सरकार के इस रवैए से रुष्ट है। इसके पहले संपूर्ण लॉकडाउन लागू नहीं करने का निर्देश भी केंद्र की ओर से आया था लेकिन फिर भी बंगाल सरकार ने सप्ताह के विभिन्न दिनों पर संपूर्ण लॉकडाउन लगाया था। हिन्दुस्थान समाचार/ ओम प्रकाश/सुगंधी/मधुप-hindusthansamachar.in

अन्य खबरें

No stories found.