लाकडाउन के दौरान सेवा बंद रहने के कारण कोलकाता  मेट्रो  को 162 करोड़ का नुकसान
लाकडाउन के दौरान सेवा बंद रहने के कारण कोलकाता मेट्रो को 162 करोड़ का नुकसान
पश्चिम-बंगाल

लाकडाउन के दौरान सेवा बंद रहने के कारण कोलकाता मेट्रो को 162 करोड़ का नुकसान

news

कोलकाता, 31 अगस्त (हि.स.)। अनलॉक 4 में कोलकाता की लाइफलाइन कही जाने वाली मेट्रो सेवा अब शुरू हो जाएगी। मेट्रो की सेवा 23 मार्च को बंद कर दी गई थी। करीब छह महीने यानी 170 दिनों तक मेट्रो सेवाएं बंद रहने के कारण, कोलकाता मेट्रो रेल को 162 करोड़ का नुकसान हुआ है। इसे लेकर मेट्रो अधिकारियों ने सोमवार को इस पर चर्चा की है। बताया गया है कि यात्री परिशेवा शुरू होने पर जो आय होगी उसी से इसकी भरपाई की जाएगी। आगामी 8 सितम्बर से कोलकाता मेट्रो रेल फिर से चलने लगेगी। प्रारंभ में यह सेवा एक दिन में 10 मिनट के अंतराल पर कुल 100 ट्रेनों के साथ शुरू होगी। इस दौरान यह देखा जाएगा कि कौन से समय पर यात्रियों की भीड़ हो रही है। बाद में समय अंतराल को कम करके ट्रेनों की संख्या में वृद्धि की जाएगी। अभी के लिए एक दिन में 100 ट्रेनें चलेंगी। लॉकडाउन से पहले कोलकाता में मेट्रो रेल की तरफ से एक दिन में 284 ट्रेनें चलाई जाती थी। अधिकतम 20 मिनट और न्यूनतम 4 मिनट का व्यवधान पर परिसेवा मिलती थी। लेकिन इस बार मेट्रो चालू किया जाता है, तो उसी समय अंतराल के भीतर मेट्रो रेल को चलाना संभव नहीं होगा। मेट्रो अधिकारियों ने पहले ही सूचित कर दिया है कि अधिकतर मेट्रो रेल कर्मचारी कोलकाता में नहीं रहते हैं। कई कर्मचारी 24 परगना, हावड़ा, हुगली, बर्दवान, मेदिनीपुर की लोकल ट्रेनों से रोजाना आते हैं। और अभी ट्रेनें बंद है।इसलिए कर्मचारियों की कमी के कारण 4 मिनट के अंतराल में ट्रेन को चलाना संभव नहीं है। अभी के लिए ट्रेन को 10 मिनट के अंतराल पर चलाने का निर्णय लिया गया है। उल्लेखनीय है कि केंद्र ने आगामी सात सितम्बर से देश मे मेट्रो परिसेवाओं को शुरू करने की हरी झंडी दे दी है।कोलकाता में भी इसकी तैयारियां शुरू कर दी गयी है। हिन्दुस्थान समाचार /सुगंधी/मधुप-hindusthansamachar.in