भाजपा विधायक की संदिग्ध मौत के मामले में सीआईडी ने दाखिल की आत्महत्या की चार्जशीट
भाजपा विधायक की संदिग्ध मौत के मामले में सीआईडी ने दाखिल की आत्महत्या की चार्जशीट
पश्चिम-बंगाल

भाजपा विधायक की संदिग्ध मौत के मामले में सीआईडी ने दाखिल की आत्महत्या की चार्जशीट

news

उत्तर दिनाजपुर, 12 सितम्बर (हि.स.)। उत्तर दिनाजपुर जिले के हेमताबाद से भाजपा विधायक देबेंद्रनाथ राय की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के मामले में करीब दो महीने बाद आपराधिक जांच विभाग (सीआइडी) ने अपनी चार्जशीट दाखिल कर दी है। सीआईडी ने चार्जशीट में इस मामले में गिरफ्तार दो आरोपित नीलय सिन्हा और माबूद अली के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने, धोखाधड़ी और साजिश रचने का आरोप लगाया है, जो आरोप पत्र (चार्जशीट) दायर किया गया है, उसमें आरोपितों के खिलाफ आइपीसी की धारा 306/420/120बी एवं 34 लगाया गया है। सीआईडी द्वारा दाखिल चार्जशीट पर भाजपा ने ममता सरकार पर हमला बोला है और इसे अपराधियों को बचाने की साजिश करार दिया है। भाजपा के महासचिव व प्रदेश भाजपा के केंद्रीय प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने सीआईडी की चार्जशीट पर टिप्पणी करते हुए कहा कि चार्जशीट में क्या होगा, यह पहले से मालूम था। सीआईडी जांच का आदेश पूरे मामले पर लीपापोती के लिए ही दिया गया था और सीआइडी के अधिकारियों ने वही किया है। यह किसी भी रूप में आत्महत्या का मामला नहीं था, वरन यह पूरी तरह से हत्या थी। हत्या का आत्महत्या करार दिया गया था और अब चार्जशीट में भी वही किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जिस दिन विधायक का शव मिला था उसी दिन दोपहर को पोस्टमार्टम के पहले ही जिला के पुलिस अधीक्षक ने मौत को आत्महत्या करार दिया था। इससे ही सरकार व पुलिस और प्रशासन की मंशा साफ हो जाती है। उन्होंने कहा कि यह ममता जी के इशारे पर अपराधियों को बचाने की साजिश है। भाजपा पूरे मामले की सीबीआई जांच की मांग कर रही है और सीबीआई जांच की मांग पर भाजपा अदालत का दरवाजा खटखटायेगी। उल्लेखनीय है कि 13 जुलाई को भाजपा विधायक का शव उनके बिंदल गांव के पास से रस्सी से लटका हुआ मिला था। उनकी जेब से एक सुसाइड नोट भी मिला था और पुलिस ने इसे आत्महत्या बताया था। भाजपा विधायक की मौत के खिलाफ लगातार आंदोलन कर रही है और सीबीआई जांच की मांग कर रही है। इसी मुद्दे पर राष्ट्रपति को भी ज्ञापन गया था। हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश/सुगंधी-hindusthansamachar.in