भाजपा नेताओं को बाहरी कहने वाले तृणमूल नेताओं  पर दिलीप घोष का पलटवार, पूछा प्रशांत किशोर कहां के हैं
भाजपा नेताओं को बाहरी कहने वाले तृणमूल नेताओं पर दिलीप घोष का पलटवार, पूछा प्रशांत किशोर कहां के हैं
पश्चिम-बंगाल

भाजपा नेताओं को बाहरी कहने वाले तृणमूल नेताओं पर दिलीप घोष का पलटवार, पूछा प्रशांत किशोर कहां के हैं

news

कोलकाता, 21 नवंबर (हि.स.)। भाजपा के नेताओं को बाहरी का तमगा देने वाली मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने सवाल पूछा है। शनिवार को प्रातः भ्रमण के समय ममता के बयान पर पलटवार करते हुए दिलीप घोष ने पूछा है कि प्रशांत किशोर कहां के हैं? घोष ने पूछा कि सरकार की नीति से लेकर पार्टी के कार्यक्रम तक अगर प्रशांत किशोर तय कर रहे हैं तो ममता बनर्जी को बताना चाहिए कि क्या वे बाहरी नहीं हैं। दरअसल 2021 का विधानसभा चुनाव करीब है और भाजपा ने राज्य में जीत के लिए पूरे बंगाल को 5 जोन में तब्दील किया है और प्रत्येक जोन का दायित्व एक केंद्रीय नेता को सौंपा गया है। देश के विभिन्न राज्यों से संबंध रखने वाले भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को समन्वय की जिम्मेदारी दी गई है। इसे लेकर तृणमूल लगातार हमलावर है। मूल रूप से बंगाली इमोशन को हथियार बना रही तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी के अलावा फिरहाद हकीम, चंद्रिमा भट्टाचार्य, सांसद सुखेंदु शेखर रॉय और ब्रात्य बसु समेत तृणमूल के अन्य नेताओं ने बार-बार कहा है कि बंगाल को बाहरी लोग नहीं चलाएंगे क्योंकि वे बंगाल की संस्कृति नहीं जानते। उल्लेखनीय है कि तृणमूल के बरिष्ठ नेता ब्रात्य बसु ने शुक्रवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि बाहरी लोग बंगाल के लिए शर्ते तय कर रहे हैं । भाजपा का नाम लिए बगैर उन्होंने बाहर से आये लोगो को गैर बंगाली कह कर संबोधित किया था। हिन्दुस्थान समाचार / ओम प्रकाश/सुगंधी/मधुप-hindusthansamachar.in