बंगाल के शिक्षा मंत्री ने राज्यपाल को कहा  पागल, इलाज की दी नसीहत
बंगाल के शिक्षा मंत्री ने राज्यपाल को कहा पागल, इलाज की दी नसीहत
पश्चिम-बंगाल

बंगाल के शिक्षा मंत्री ने राज्यपाल को कहा पागल, इलाज की दी नसीहत

news

कोलकाता, 14 अक्टूबर (हि.स.)। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ और ममता सरकार के बीच टकराव बढ़ता ही जा रहा है। इसी क्रम में तृणमूल कांग्रेस की तरफ से धनखड के खिलाफ एक और तीखी टिप्पणी की गई है। इस बार राज्य के शिक्षा मंत्री और सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस के महासचिव पार्थ चटर्जी ने इशारे इशारे में राज्यपाल को पागल करार दिया है और उन्हें इलाज कराने की नसीहत दी है। दरअसल राज्यपाल ने पश्चिम बंगाल की लगातार बिगड़ती कानून व्यवस्था और एक के बाद एक राजनीतिक हत्याओं को लेकर ममता प्रशासन पर सवाल खड़ा किया था। उन्होंने कहा था कि सरकारें नागरिक अधिकारों की रक्षा के लिए होती हैं, लेकिन ममता बनर्जी की सरकार बंगाल के निवासियों के सारे अधिकारों का हनन कर रही है। यहां मानवाधिकार खत्म है और लोग डर के साए में रह रहे हैं। इसी पर पलटवार करते हुए पार्थ चटर्जी ने कहा कि राज्यपाल का दिमाग सही नहीं रह गया है। उन्हें अपने दिमाग का इलाज कराने की जरूरत है। चटर्जी ने यह भी कहा कि राज्यपाल को यह सोचना चाहिए कि वह राजभवन में बैठेंगे या भाजपा दफ्तर में क्योंकि उनका बर्ताव भाजपा नेता की तरह है। हिन्दुस्थान समाचार / ओम प्रकाश/मधुप-hindusthansamachar.in