प्रधानमंत्री कृषक योजना से बंगाल के किसानों को वंचित किये जाने पर राज्यपाल ने राज्य सरकार पर किया कटाक्ष
प्रधानमंत्री कृषक योजना से बंगाल के किसानों को वंचित किये जाने पर राज्यपाल ने राज्य सरकार पर किया कटाक्ष
पश्चिम-बंगाल

प्रधानमंत्री कृषक योजना से बंगाल के किसानों को वंचित किये जाने पर राज्यपाल ने राज्य सरकार पर किया कटाक्ष

news

कोलकाता, 16 सितम्बर (हि. स.)। प्रधानमंत्री कृषक योजना से बंगाल के किसानों को वंचित किये जाने को लेकर राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने एक बार फिर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी हमला बोला है। इसे लेकर राज्यपाल ने बुधवार को दो ट्वीट किया। इसमें राज्यपाल ने लिखा कि प्रधानमंत्री किसान योजना को ना मान कर किसानों के साथ राज्य सरकार ने बहुत अन्याय किया है। पश्चिम बंगाल को छोड़कर देश के विभिन्न हिस्सों में किसानों को यह लाभ मिल रहा है। यह व्यर्थ की राजनीति के अलावा और कुछ नहीं है। केंद्रीय परियोजना से किसी व्यक्ति को वंचित करना अनुचित है। अब इसमें बदलाव की जरूरत है। एक वीडियो के जरिए उन्होंने कहा है कि राज्य सरकार अगर इतनी सजग होती तो किसान के पेट पर लात नही मारती। अगर सरकार टकराव की नीति को फॉलो नही करती तो अब तक राज्य के किसानों को आठ हज़ार 400 करोड़ रुपये मिल जाते। यह रकम कम नही है। उन्होंने ने कहा कि राज्य सरकार ने विधानसभा में राज्यपाल के माध्यम से किसानों को जो सहायता की विवरण फरवरी 2020 दिया है वो मैंने पढ़ा है वो 700 करोड़ से कम है। यह सामान्य ज्ञान का विषय है की 700 करोड़ आठ हज़ार 400 करोड़ से बहुत कम है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के पास ऐसा कौन-सा तर्क है जो और कौन सी ऐसी अर्थनीति है जो यह कहती है कि किसान को सौ प्रतिशत केंद्र की सहायता मिल रही है। सीधे किसान के बैंक एकाउंट में मिल रही है, बिना बिचौलिए की मिल रही है, बिना किसी को कमीसन दिए मिल रही है। उंसके बीच मे राज्य सरकार क्यों आती है।उन्होंने कहा कि पूरे देश मे पश्चिम बंगाल के अलावा हर प्रांत के किसान को प्रधानमंत्री कृषक योजना के फायदा मिल रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार किसान की मदद करना चाहती है तो करे लेकिन केंद्र सरकार द्वारा जो सौ प्रतिशत सहायता मिल रही है उसमें बाधा नहीं देनी चाहिए। हिन्दुस्थान समाचार/सुगंधी/गंगा-hindusthansamachar.in