प्रदेश अध्यक्ष बनते ही अधीर ने ममता के खिलाफ खोला मोर्चा, करेंगे जबरदस्त आंदोलन
प्रदेश अध्यक्ष बनते ही अधीर ने ममता के खिलाफ खोला मोर्चा, करेंगे जबरदस्त आंदोलन
पश्चिम-बंगाल

प्रदेश अध्यक्ष बनते ही अधीर ने ममता के खिलाफ खोला मोर्चा, करेंगे जबरदस्त आंदोलन

news

कोलकाता, 11 सितम्बर (हि. स.)। पश्चिम बंगाल प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष बनते ही मुर्शिदाबाद के बहरमपुर से सांसद अधीर रंजन चौधरी में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ मोर्चा खोलने का ऐलान कर दिया है। उन्होंने स्पष्ट किया है कि उनकी पार्टी कोरोना संकट टलते ही राज्यभर में सड़कों पर उतरकर आंदोलन करेगी। चौधरी के करीबी सूत्रों के अनुसार पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की तानाशाही को लेकर चौधरी ने लगातार सवाल खड़े किए हैं। अब जबकि उन्हें दोबारा प्रदेश अध्यक्ष बना दिया गया है तो उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर व्यापक आंदोलन की रणनीति भी बनाई है। इसमें उन्होंने कांग्रेस छोड़कर दूसरी पार्टियों में जा चुके कार्यकर्ताओं को वापस लौटने के लिए भी पुख्ता योजना बनाई है। चौधरी के करीबी नेताओं ने उन लोगों से संपर्क साधना शुरू कर दिया है जो अधीर रंजन चौधरी के अध्यक्ष रहते कांग्रेस में थे लेकिन उनके प्रदेश अध्यक्ष पद से हटते ही भाजपा अथवा अन्य पार्टियों में चले गए थे। विशेषज्ञों का कहना है कि प्रदेश कांग्रेस में चौधरी से बड़ा कोई चेहरा नहीं है। 2021 के विधानसभा चुनाव से पहले उन्हें प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी देकर कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व ने समझदारी दिखाई है। माना जा रहा है कि इससे न केवल तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ पार्टी मजबूत बनेगी बल्कि 2021 के विधानसभा चुनाव में माकपा और कांग्रेस का गठबंधन होता है तो सत्तारूढ़ पार्टी और भाजपा को भी कड़ी चुनौती देने में सफलता मिलेगी। हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश/सुगंधी-hindusthansamachar.in