पूर्व रेलवे और दक्षिण पूर्व रेलवे सभी ईएमयू लोकल ट्रेनों में लगाएगी सीसीटीवी कैमरे
पूर्व रेलवे और दक्षिण पूर्व रेलवे सभी ईएमयू लोकल ट्रेनों में लगाएगी सीसीटीवी कैमरे
पश्चिम-बंगाल

पूर्व रेलवे और दक्षिण पूर्व रेलवे सभी ईएमयू लोकल ट्रेनों में लगाएगी सीसीटीवी कैमरे

news

कोलकाता, 07 अक्टूबर (हि.स.)। यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पूर्व रेलवे और दक्षिण पूर्व रेलवे ने अपने सभी ईएमयू लोकल ट्रेन के डिब्बों में सीसीटीवी लगाने का फैसला किया है। पूर्व रेलवे की ओर से इसके लिए निविदा भी जारी किया गया है। इसके तहत हावड़ा, सियालदह सहित सभी शाखाओं के ईएमयू ट्रेन के डिब्बों में सीसीटीवी लगाए जाएंगे। वहीं, दक्षिण पूर्व रेलवे में लोकल ट्रेनों में सीसीटीवी लगाने का काम शुरू भी हो गया है। दरअसल दोनों जोनल रेलवे का मुख्यालय कोलकाता में ही है और इनके द्वारा अधिकतर लोकल ट्रेनों का संचालन बंगाल में ही होता है। रेल मंत्रालय ने कदम खासकर चलती गाड़ी में महिलाओं के साथ छेड़खानी, छिनताई, सामानों की चोरी एवं रेल बोगियों को नुकसान पहुंचाने की घटनाओं को रोकने के लिए उठाया है। यदि ट्रेन को चलाते समय मोटरमैन यदि सिग्नल की अवहेलना करता है तो वह भी सीसीटीवी कैमरे में पकड़ा जाएगा। आरडीएसओ (रिसर्च एंड डिजाइनिंग ऑर्गेनाइजेशन) की सलाह के बाद चेन्नई में इंटीग्रेटेड कोच फैक्ट्री द्वारा सीसीटीवी को डिजाइन किया गया था। उस डिजाइन के अनुरूप रेलवे बोर्ड ने सभी शाखाओं (मंडलों) को ईएमयू लोकल में सीसीटीवी लगाने का निर्देश दिया है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कोरोना के कारण पिछले करीब सात महीने से लोकल ट्रेनों का संचालन पूरी तरह बंद है। इस अवसर का लाभ उठाते हुए लोकल ट्रेनों में सीसीटीवी लगाने का काम शुरू हो गया है। प्रत्येक बोगी में औसतन पांच से छह उच्च क्षमता के निगरानी कैमरे लगाए जा रहे हैं। इसके साथ मोटरमैन और गार्ड ट्रेन बोगी में होने वाली हर हरकत को देख सकेंगे। इसके लिए मोटरमैन के कमरे में एक टीवी स्क्रीन भी लगाई जाएगी। सीसीटीवी की मदद से ट्रेन बोगी में होने वाली हर हरकत अपने आप रिकॉर्ड हो जाएगी और वह मोटरमैन भी देख सकेंगे। वहीं, मुख्य सर्वर किसी भी रेलवे कार्यालय में होगा। हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश/सुगंधी-hindusthansamachar.in