पुलिस‌ हिरासत में भाजपा कार्यकर्ता की मौत, राज्यपाल ने मुख्यमंत्री  से मांगा जवाब
पुलिस‌ हिरासत में भाजपा कार्यकर्ता की मौत, राज्यपाल ने मुख्यमंत्री से मांगा जवाब
पश्चिम-बंगाल

पुलिस‌ हिरासत में भाजपा कार्यकर्ता की मौत, राज्यपाल ने मुख्यमंत्री से मांगा जवाब

news

कोलकाता, 18 अक्टूबर (हि. स.)। पूर्व मेदिनीपुर में भाजपा कार्यकर्ता मदन घोरुई की पुलिस हिरासत में हुई मौत को लेकर रविवार को राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने पत्र लिखकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से जवाब-तलब किया है। पुलिस हिरासत में राजनीतिक कार्यकर्ता मदन घोरुई की मौत के मामले पर ममता बनर्जी को राज्यपाल ने पत्र लिखा है। राज्य में अराजकता की स्थिति पर चिंता जताते हुए कहा कि प्रदेश में बड़े पैमाने पर मानवाधिकार उल्लंघन, राजनीतिक हिंसा, बदले की कार्रवाई और कस्टोडियल टॉर्चर की घटनाएं हो रही हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार की हर गड़बड़ी में पुलिस का हाथ होता है, जिससे साबित होता है कि बंगाल में पुलिस राज है। अपने पत्र में उन्होंने कहा कि मदन घोरुई उर्फ कालीपद की हाल ही में हुई मौत हिरासत में अत्याचार, मारपीट और मौत की एक और भयानक घटना है। ऐसी शर्मनाक घटनाएं प्रदेश में कानून व्यवस्था को चुनौती हैं। उन्होंने हाल ही में सिख सुरक्षा गार्ड बलविंदर सिंह के साथ पुलिस की ज्यादती का जिक्र करते हुए ममता सरकार पर जमकर हमला बोला। धनखड़ ने कहा कि पुलिस की ज्यादती के कारण बलविंदर सिंह प्रदेश में मानवाधिकारियों के उल्लंघन का पहले ही पोस्टरबॉय बन चुका है। ऐसे में पुलिस हिरासत में राजनीतिक कार्यकर्ता की मौत से प्रदेश में पुलिस राज की व्यवस्था का सच उजागर हुआ है। उल्लेखनीय है कि पूर्व मेदिनीपुर जिले में भाजपा कार्यकर्ता की पुलिस हिरासत में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गयी। इसे लेकर भाजपा कार्यकर्ताओं ने ममता सरकार पर हमला बोला है और मामले को राजनीतिक हत्या करार दिया है। हाईकोर्ट ने मदन के शव का दोबारा पोस्टमार्टम कराने का आदेश दिया है। हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश/सुगंधी-hindusthansamachar.in