कुणाल ने कैलाश विजयवर्गीय को दी चुनौती, कहा : साहस है तो भाइपो का नाम बताएं
कुणाल ने कैलाश विजयवर्गीय को दी चुनौती, कहा : साहस है तो भाइपो का नाम बताएं
पश्चिम-बंगाल

कुणाल ने कैलाश विजयवर्गीय को दी चुनौती, कहा : साहस है तो भाइपो का नाम बताएं

news

कोलकाता, 22 नवम्बर (हि. स.)। तृणमूल के पूर्व एमपी व प्रवक्ता कुणाल घोष ने कैलाश विजयवर्गीय को चुनौती देते हुए कहा कि यदि साहस है, तो नाम बताएं। रविवार को तोपसिया स्थिति तृणमूल कार्यालय में पत्रकार सम्मेलन को संबोधित करते हुए तृणमूल के प्रवक्ता व पूर्व सांसद कुणाल घोष ने कैलाश विजयवर्गीय पर पलट वार करते हुए कहा कि जिस तरह से युवा नेता पर आक्रमण किया जा रहा है, उससे साफ है कि भाजपा डर गई है। एक शब्द कैलाश विजयवर्गीय व अन्य कुछ नेता बार-बार बोल रहे हैं, वह शब्द "भाइपो" है, स्पष्ट रूप से बोलें। यदि कैलाश विजयवर्गीय में साहस है, हिम्मत है, नाम लेकर बताएं। भाव में नहीं बोलें। मै इसकी चुनौती देता हूं। कैलाश जी जिन्हें भाई कहते हैं, तो उनका "भाइपो" भी बीसीसीआई के सचिव हैं। वह चरित्र हनन करने की कोशिश कर रहे हैं, क्योंकि वह राजनीति में प्रतिस्पर्धा नहीं कर सकते। कुणाल घोष ने कैलाश विजयवर्गीय के विधायक बेटे आकाश विजयवर्गीय को लेकर भी हमला बोलते हुए कहा कि कैलाश जी के बेटे आकाश ने सरकारी कर्मचारियों के काम में बाधा दी। गुंडागर्दी के लिए उन्हें गिरफ्तार किया गया था। इसके साथ ही भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय पर हमला बोलते हुए कहा कि शुभ्रांशु राय कैसे राजनीति में आएं? ऐसा तो नहीं हो सकता है कि यदि परिवार के सदस्य राजनीति में रहे, तो कोई और नहीं राजनीति कर सकता है। हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश/गंगा-hindusthansamachar.in