किसान सम्मान निधि लागू नहीं करने वाली कृषकों के लिए घड़ियाली आंसू बहा रही : राज्यपाल
किसान सम्मान निधि लागू नहीं करने वाली कृषकों के लिए घड़ियाली आंसू बहा रही : राज्यपाल
पश्चिम-बंगाल

किसान सम्मान निधि लागू नहीं करने वाली कृषकों के लिए घड़ियाली आंसू बहा रही : राज्यपाल

news

कोलकाता, 22 सितम्बर (हि. स.)। राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने एक बार फिर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर बड़ा हमला बोला है। केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी किसान सम्मान निधि को बंगाल में लागू नहीं करने और अब किसान बिल को लेकर हंगामा खड़ा करने की वजह से उन्होंने ममता बनर्जी से कई सवाल पूछे हैं। राज्यपाल ने मंगलवार को ट्वीटर पर लिखा है कि पश्चिम बंगाल में 70 लाख से ज्यादा किसानों को 84 हजार करोड़ रुपये की सुविधा अभी तक क्यों नहीं मिली है? ये रुपये किसान सम्मान निधि के तहत मिलनी चाहिए थी। आज अगर ममता इस महत्वकांक्षी योजना को लागू करती तो बंगाल के प्रत्येक किसान के खाते में अब तक 12000 रुपये जमा हो गए होते। अपने ट्वीट पर राज्यपाल ने लिखा है कि मुख्यमंत्री जी आपके ये घड़ियाली आंसू किसानों की भलाई नहीं करेंगे। बंगाल को छोड़कर देश के सभी हिस्सों के किसान अभी तक 12000 करोड रुपये का लाभ प्राप्त कर चुके हैं। किसानों के साथ आपका यह अन्याय आपकी संकीर्ण राजनीति और दुर्बल अर्थनीति का परिचायक है। इसके अलावा बंगाल सरकार की अकर्मण्यता के कारण ही केंद्र सरकार द्वारा घोषित 3.5 लाख करोड़ रुपये के कोरोना पैकेज में से बंगाल को 30 हजार करोड़ रुपये अभी तक नहीं मिल सका है। मुझे उम्मीद है कि ममता बनर्जी इस बात का अब ध्यान अच्छी तरह से रखेंगी कि केंद्र सरकार की ओर से किसानों को मिलने वाली हर एक योजना का लाभ राज्य के किसानों को मिले। हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश/सुगंधी-hindusthansamachar.in