अमित शाह को भोजन कराने वाली गीता महाली को राज्य सरकार ने  दी नौकरी
अमित शाह को भोजन कराने वाली गीता महाली को राज्य सरकार ने दी नौकरी
पश्चिम-बंगाल

अमित शाह को भोजन कराने वाली गीता महाली को राज्य सरकार ने दी नौकरी

news

सिलीगुड़ी, 05 नवम्बर (हि.स.)। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बंगाल दौरे के एक दिन पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आदिवासी, पिछड़े व अनुसूचित जातियों के लिए कई कल्याकारी योजनाओं की घोषणा की है। इसके साथ ही नक्सलबाड़ी के दक्षिण कटियाजोत गांव में रहने वाली गीता महाली को राज्य सरकार ने होमगार्ड की नौकरी भी दी है। उल्लेखीनय है कि 25 अप्रैल 2017 को तत्कालीन भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने नक्सलबाड़ी के दक्षिण कटियाजोत गांव में गीता महाली और राजू महाली के घर भोजन किया था। गुरुवार एक बार गृह मंत्री बंगाल के दौरे पर हैं। माना जा रहा है कि राज्य सरकार ने अमित शाह के दौरे को देखते हुए गीता महाली को होमगार्ड की नौकरी दी है। वहीं, गुरुवार को दार्जिलिंग जिला तृणमूल अध्यक्ष रंजन सरकार महाली दंपति से मिलने उनके घर पहुंचे। इस दौरान पत्रकारों से बात करते हुए रंजन सरकार ने कहा कि खाना खाने के बाद अमित शाह ने कभी महाली दंपति की सुध नहीं ली। उन्होंने कहा कि भाजपा ने महाली दपंति को यूज किया है जबकि हमारी सरकर ने गीता महाली को नौकरी दे कर यह साफ़ कर दिया है कि मुख्यमंत्री राज्य के सभी गरीब परिवारों के साथ हैं। दूसरी ओर, सिलीगुड़ी सांगठनिक भाजपा के महासचिव आनंदमय बर्मन ने पलटवार करते हुए कहा कि राजनीतिक स्वार्थ लिए गीता महाली को नौकरी दी गई है। अमित शाह उनके घर पर शिष्टाचार के तहत खाना खाने गए थे। उन्हें भाजपा में शामिल करने के लिए नहीं गया था। लेकिन तृणमूल कांग्रेस ने महाली दंपति को झंडा थामकर उनके साथ राजनीतिक खेल खेला है। हिन्दुस्थान समाचार/ सचिन/मधुप-hindusthansamachar.in