अभिषेक बनर्जी और प्रशांत किशोर से हैं शुभेंदु को समस्याएं
अभिषेक बनर्जी और प्रशांत किशोर से हैं शुभेंदु को समस्याएं
पश्चिम-बंगाल

अभिषेक बनर्जी और प्रशांत किशोर से हैं शुभेंदु को समस्याएं

news

कोलकाता, 18 नवम्बर (हि.स.)। राज्य के परिवहन मंत्री और तृणमूल कांग्रेस में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बाद सबसे अधिक जनाधार रखने वाली शुभेंदु अधिकारी की नाराजगी की वजह स्पष्ट तौर पर सामने आ गई है। तृणमूल सूत्रों ने बताया कि नाराज शुभेंदु अधिकारी को मनाने के लिए पार्टी के दो वरिष्ठ सांसदों को जिम्मेवारी सौंपी गई थी। उन्होंने अधिकारी के साथ बंद दरवाजे के अंदर कई दौर की बैठकें की हैं। खबर है कि शुभेंदु ने साफ बता दिया है कि जब तक तृणमूल कांग्रेस के अंदर ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी की अहमियत पार्टी के बाकी वरिष्ठ नेताओं से अधिक रहेगी तब तक वह पार्टी के साथ नहीं रह सकेंगे। सूत्रों ने बताया कि शुभेंदु ने साफ कहा है जब तक तृणमूल कांग्रेस की कमान ममता बनर्जी और सुब्रत बख्शी के हाथ में थी तब तक कोई समस्या नहीं थी लेकिन अब जबकि अभिषेक बनर्जी और प्रशांत किशोर तृणमूल कांग्रेस को अपने हिसाब से चला रहे हैं तो यह समस्या वाली बात है। उन्होंने साफ कहा है कि पार्टी के वरिष्ठ नेताओं और समर्पित कार्यकर्ताओं को किनारे लगा दिया गया है जिन्होंने अपनी पूरी जिंदगी तृणमूल कांग्रेस को खड़ा करने में बिता दी, उन्हें परे धकेल कर मुख्यमंत्री अपने भतीजे अभिषेक बनर्जी को पार्टी में दूसरे नंबर की बना रही हैं। यह परिवारवाद नहीं चलेगा। अब खबर है कि सीएम तक यह बात पहुंचाई गई है। इसके साथ ही शुभेंदु अधिकारी को मनाने की सारी कोशिशें शुरू हो गई हैं। उल्लेखनीय है कि हाल के दौर में शुभेंदु अधिकारी ने ममता बनर्जी के खिलाफ तो कुछ नहीं कहा है लेकिन तृणमूल कांग्रेस से अलग मंच बनाकर अपना अलग कार्यक्रम और जनसभा करते रहे हैं। इसे लेकर उनके तृणमूल छोड़कर भाजपा में शामिल होने की अटकलें तेज हैं। हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश/रामानुज-hindusthansamachar.in