woman-dies-while-going-to-hospital-after-delivery-at-home
woman-dies-while-going-to-hospital-after-delivery-at-home
उत्तराखंड

घर पर प्रसव होने के बाद अस्पताल ले जाते समय महिला हुई मौत

news

उत्तरकाशी, 08 अप्रैल (हि.स.)। बड़कोट में महिला दीपमाला का प्रसव गुरुवार को घर पर हुआ लेकिन महिला की हालत जब घर पर बिगाड़ने लगी तो परिजनों ने महिला को स्वास्थ्य केंद्र बड़कोट पहुंचाया। जहां पर डॉक्टरों ने महिला को मृत घोषित कर दिया। डॉक्टरों के ने बताया कि महिला में खून कमी थी, जिस कारण प्रसव होने के बाद महिला की मृत्यु हो गई । महिला का नाम दीपमाला और पति का नाम सुमित है। एक वर्ष पूर्व महिला की शादी ग्राम कुमोला पुरोला में हुई थी। महिला दीपमाला का मायका बड़कोट में है। आजकल दीपमाला प्रसव के लिए अपने मायके में आई हुई थी लेकिन दीपमाला का प्रसव घर पर ही हुआ। प्रसव होने के बाद महिला का स्वास्थ्य बिगड़ा तो मायके पक्ष वालों ने दीपमाला को स्वास्थ्य केंद्र बड़कोट में भर्ती करवाया। जहां पर डॉक्टरों के द्वारा महिला को मृत घोषित किया गया। बताया जा रहा है कि महिला में खून की कमी थी जो उसकी मौत का सबब बन गया। अगर समय दीपमाला को खून मिल जाता तो शायद वह बच जाती। दरअसल, पहाड़ों में स्वास्थ्य सेवाएं काफी खराब है। जिस कारण महिलाएं प्रसव के दौरान कभी अस्पतालों में तो कभी देहरादून जाते हुए रास्ते में दम तोड़ रही है। कुछ रोज पूर्व यमुना घाटी में ही एक महिला ने बच्चे को रास्ते में ही जन्म दिया था, जिसमें बच्चे की मृत्यु हो गई लेकिन महिला की जान बच गई थी। कुछ रोज पूर्व यमुना घाटी में ही एक महिला ने प्रसव पीड़ा के दौरान हायर सेंटर ले जाते समय रास्ते में ही दम तोड़ दिया था। स्थानीय लोगों का कहना है कि आज भी पहाड़ों में स्वास्थ्य सेवाएं इतनी खराब क्यों है कि महिलाएं प्रसव के दौरान दम तोड़ रही हैं। हिन्दुस्थान समाचार/चिरंजीव