नमामि गंगे अभियान के तहत हुईं प्रतियोगिताओं के विजेता पुरस्कृत

नमामि गंगे अभियान के तहत हुईं प्रतियोगिताओं के विजेता पुरस्कृत
winners-of-the-competitions-awarded-under-namami-gange-campaign-are-rewarded

गोपेश्वर, 12 अप्रैल (हि.स.)। नमामि गंगे स्वच्छता पखवाड़े के तहत सोमवार को महाविद्यालय जोशीमठ में पर्यावरण और गंगा स्वच्छता व संरक्षण विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला और विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। बाद में विजेता प्रतिभागियों को पुरस्कृत भी किया गया। जोशीमठ महाविद्यालय में आयोजित कार्यशाला में बतौर मुख्यवक्ता पर्यावरण एवं जलवायु विज्ञानी कर्णप्रयाग महाविद्यालय के डा. विश्वपति भट्ट ने कहा कि देवभूमि उत्तराखंड की परंपराएं प्राकृतिक संसाधनों के संरक्षण व संर्वद्धन से जुड़ी हुई हैं, जिनका वर्तमान समय में हनन होता जा रहा है। विकास का माॅडल सीधे तौर पर प्रकृति और पर्यावरण के लिए संकट उत्पन्न कर रहा है। उन्होंने हाल में तपोवन-रैणी आपदा का भी जिक्र करते हुए इस घटना के होने पर भी चर्चा की। कार्यक्रम में नोडल अधिकारी प्राचार्य डा. गोपाल कृष्ण सेमवाल ने कहा कि गंगा को स्वच्छ बनाये रखना हम सभी का कर्तव्य है। इसके लिए लोगों को जागरूक होने की आवश्यकता है। इस मौके पर आयोजित भाषण प्रतियोगिता में गोपी चंद उनियाल प्रथम, करीना डिमरी द्वितीय, शिव प्रसाद व रोशनी तृतीय और निबंध प्रतियोगिता में गोपी चंद उनियाल प्रथम, रितिका रावत द्वितीय, ज्योति व अखिलेश तृतीय स्थान पर रहे। इस मौके पर पोस्टर, स्लोगन, गंगा रन के तीस छात्रों को भी पुरस्कृत किया गया। इस मौके पर डाॅ. राहुत तिवारी, डाॅ. चरण सिंह राणा, डाॅ. नवीन कोहली, डाॅ. पवन कुमार, डाॅ. अरूण कुमार, डाॅ. किशोरी लाल, डाॅ. राजेंद्र सिह आदि मौजूद थे। हिन्दुस्थान समाचार/जगदीश