कोरोना काल में योग के महत्व पर वेबिनार आयोजित

कोरोना काल में योग के महत्व पर वेबिनार आयोजित
webinar-organized-on-the-importance-of-yoga-in-the-corona-period

हरिद्वार, 20 जून (हि.स.)। मानव अधिकार संरक्षण समिति, अखिल भारतीय वैश्य महासभा, भारत विकास परिषद मंदाकनी शाखा तथा महात्मा विदुर बिजनौरी समाज ट्रस्ट, हरिद्वार के संयुक्त तत्वावधान में कोरोना काल में योग के महत्व पर वेबिनार का आयोजन किया गया। डॉ. पूनम सिंह, सचिव योग मंथन ने ईश वंदना के साथ वेबिनार का शुभारंभ किया। वेबिनार की अध्यक्षता एवं धन्यवाद ज्ञापन ई. मधुसूदन आर्य ने किया। आर्य ने कहा कि कोरोना से बचाव में योग के आसन रामबाण उपाय हैं। योग से शरीर स्वस्थ रहता है। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने के साथ ही श्वसन तंत्र भी मजबूत होता है। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने का एकमात्र सर्वमान्य हल योगासन ही है। मुख्य अतिथि उत्तराखण्ड संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर देवी प्रसाद त्रिपाठी ने कहा कि चित्त की वृत्तियों का रोकना ही योग है। आत्मा व परमात्मा को युक्त करना ही योग है। विशिष्ट अतिथि देव संस्कृति विश्वविद्यालय, हरिद्वार, के डीन एकेडमिक प्रो. ईश्वर भारद्वाज ने कहा कि योग हर मनुष्य के लिए जरूरी है। प्रतिदिन योग जरूर करना चाहिए। वेबिनार का संचालन मानव अधिकार संरक्षण समिति की राष्ट्रीय महिला अध्यक्ष डा. सपना बंसल ने किया। हिन्दुस्थान समाचार/रजनीकांत

अन्य खबरें

No stories found.